Manipur Assembly Election 2022: मणिपुर में विधानसभा चुनाव से पहले ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) के एकमात्र विधायक तोंग्ब्राम रविंद्र सिंह ने गुरुवार को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) का दामन थाम लिया. BJP के एक नेता ने यह जानकारी दी. सिंह, 2017 विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस (TMC) के टिकट पर थंगा निर्वाचन क्षेत्र से चुने गए थे और बाद में उन्होंने BJP के नेतृत्व में गठबंधन सरकार को समर्थन दिया था.Also Read - कैलाश विजयवर्गीय बोले- ज्ञानवापी मस्जिद विवाद जैसे धार्मिक मसले भाजपा नहीं बल्कि जनता उठा रही है

पिछले महीने कांग्रेस छोड़ने वाले वाई. सुरचंद्र सिंह भी BJP में शामिल हो गए. यह दोनों नेता केंद्रीय मंत्री प्रतिमा भौमिक, असम के मंत्री अशोक सिंहल और पार्टी की मणिपुर इकाई की अध्यक्ष अधिकारीमयूम शारदा देवी की उपस्थिति में भाजपा में शामिल हुए. देवी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. मणिपुर की 60 सदस्यीय विधानसभा में दो चरणों में 27 फरवरी और तीन मार्च को चुनाव होगा. मतगणना 10 मार्च को होगी. Also Read - ट्रैफिक जाम में फंसे अफसर ने सफाईकर्मी को मारा थप्पड़, वीडियो वायरल होने पर CM हेमंत सोरेन ने दिया कार्रवाई का आदेश

चुनाव में छाये रहेंगे बेरोजगारी और विकास के मुद्दे

मणिपुर विधानसभा चुनावों में कांग्रेस सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेतृत्व वाले गठबंधन से सत्ता वापस लेने की पुरजोर कोशिश में लगी है. हाल में उग्रवादी हमलों के बाद होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव में बेरोजगारी और विकास के मुद्दों पर ध्यान केंद्रित रहेगा. कानून और व्यवस्था के अलावा, सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम (AFSPA) को रद्द करने की लंबे समय से जारी मांग, राज्य में आर्थिक संकट, जिसमें शायद ही कोई उद्योग है, दोनों मुख्य दलों के बीच चुनावी मुकाबले के एजेंडे में शीर्ष पर रहने की उम्मीद है. Also Read - जेपी नड्डा से मिलकर बोले अर्जुन सिंह- मैं इंतजार कर रहा हूं, क्या अब भाजपा से विदा लेना चाहते हैं सांसद ?

नेशनल पीपुल्स पार्टी (NPP) और नगा पीपुल्स फ्रंट (NPF) जैसे छोटे स्थानीय दल अपनी-अपनी मांगों को लेकर आगे बढ़ रहे हैं. BJP जो दो स्थानीय दलों -NPP और NPF के साथ हाथ मिलाकर सिर्फ 21 सीटों के बावजूद 2017 में सरकार बनाने में कामयाब रही थी. कांग्रेस को 28 सीटें मिली थीं. मालूम हो कि मणिपुर की 60 विधानसभा सीटों के लिए मतदान दो चरणों में 27 फरवरी और 3 मार्च को होगा. मतों की गिनती 10 मार्च को होगी.