इम्फाल: कई बार सरकारी कार्यक्रमों में मंत्री या अधिकारी देरी से पहुंचते हैं या पहुंचते ही नहीं. अक्सर ऐसा होता है और इनसे कोई सवाल-जवाब भी नहीं होता है, लेकिन मणिपुर में ऐसा करने वाले मंत्रियों और अधिकारियों को सरकार की सख्ती का सामना करना पड़ रहा है. एक सरकारी कार्यक्रम में नहीं जाने पर मंत्रियों और अधिकारियों से सरकार ने इस्तीफा ही मांग लिया.

बताया जा रहा है कि यहां एक सरकारी कार्यक्रम था. इसमें मंत्री और अधिकारी बुलाए जाने के बाद भी बेहद कम संख्या में पहुंचे. इससे सीएम एन. बीरेन सिंह नाराज हो गए. उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए सीएम ने मंत्रियों और अधिकारियों से इस्तीफा मांगा. आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार मणिपुर राइफल्स के परिसर में ‘कौमी एकता सप्ताह’ पर आयोजित एक समारोह के दौरान मुख्यमंत्री ने यह बयान दिया.

मणिपुर फर्जी मुठभेड़ मामला: सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई कर रही बेंच से न्यायाधीशों को हटाने की याचिका खारिज की

सीएम ने कहा कि अगर ईमानदारी और समर्पण से जनता के कल्याण के लिए अपने कर्तव्यों का निर्वहन नहीं कर सकते तो मंत्रियों और अधिकारियों को इस्तीफा दे देना चाहिए. विज्ञप्ति में कहा गया कि राज्य सरकार द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कुछ ही मंत्रियों, विधायकों और अधिकारियों ने हिस्सा लिया.