इम्फाल: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) और मणिपुर से राज्यसभा के नवनिर्वाचित सांसद लीशेंबा सानाजाओबा की मुलाकात पर फेसबुक पर एक पोस्ट लिखने के लिए राजनीतिक कार्यकर्ता एरेन्द्रो लीचोंबाम पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया है. पुलिस सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी. लीचोंबाम ने 24 जुलाई को एक चित्र साझा किया था जिसमें मणिपुर के नामधारी राजा सानाजाओबा शाह के सामने हाथ जोड़कर सिर झुका रहे हैं. Also Read - Who Will Be Assam Next CM? असम के सीएम के लिए दिल्ली में BJP का मंथन जारी, सोनोवाल या बिस्व सरमा...कौन

लीचोंबाम ने चित्र के नीचे मैतेई भाषा में लिखा था “मीनाई माचा” जिसका अर्थ होता है “सेवक का बेटा.” पुलिस सूत्रों ने बताया कि मंगलवार को लीचोंबाम के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धाराओं में एक मामला दर्ज किया गया. उन्होंने कहा कि इस मामले में जांच जारी है. सूत्रों ने अधिक जानकारी देने से मना कर दिया. Also Read - West Bengal Result: बड़ी जीत के बाद सरकार गठन का दावा करने के लिए आज शाम राज्यपाल धनखड़ से मिलेंगी ममता बनर्जी

भाजपा नेता सानाजाओबा जब हाल ही में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अमित शाह से उनके आवास पर मिले थे तब चित्र खींचा गया था. लीचोंबाम के परिजनों ने कहा कि पुलिस उनके थांगमीबंद स्थित आवास पर 26 जुलाई को गई थी लेकिन उस समय वह वहां नहीं थे. उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने उन्हें लीचोंबाम के विरुद्ध दर्ज मामले की जानकारी दी और बताया कि फेसबुक पोस्ट के लिए उनके ऊपर मामला दर्ज किया गया है. Also Read - West Bengal Result: पार्टी बदलकर BJP में शामिल होने वाले ज्यादातर उम्मीदवारों को मिली हार, देखें LIST

लीचोंबाम ने बाद में फेसबुक पर लिखा, “अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का पालन करने के लिए सरकार ने मुझ पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया है. कंगलीपक को जोर जबरदस्ती से अपने में मिलाने से रोकना मेरा दायित्व है.” कंगलीपक राज्य के निवासियों को दिया गया नाम है.