नई दिल्ली, 14 अप्रैल | दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी एक बिल्कुल अनियोजित शहर है और आम आदमी पार्टी (आप) को जनादेश इसे बदलने के लिए मिला है। एसोसिएटेड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया (एसोचैम) द्वारा आयोजित ‘इनोवेशन टू मेक सिटीज फाइनेशियली सस्टेनेबल’ सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए सिसोदिया ने कहा, “हम एक बेहद अनियोजित शहर में रह रहे हैं और हमें (आप) एक विशाल जनादेश (इसे बदलने के लिए) मिला है।”

उन्होंने कहा, “हमारा शहर आंशिक रूप से विकसित है और आंशिक रूप से अतिक्रमित। इसका मुख्य कारण यह है कि आज से लगभग 20 साल पहले शहर के योजनाकारों ने यह नहीं सोचा होगा कि लोग जीविका की तलाश में इस शहर में पहुंचेंगे।” उन्होंने आगे कहा, “इसलिए उनका (शहर के योजनाकार) दृष्टिकोण विफल हो गया और दिल्ली एक अनियोजित शहर बनकर रह गया।”

सिसोदिया ने दिल्ली की स्वास्थ्य सेवा व शिक्षा प्रणाली में सुधार लाकर इसे बेहतरीन शहर बनाने पर जोर दिया। शिक्षकों के प्रशिक्षण पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में शिक्षा व्यवस्था को पूरी तरह सुधारा जाएगा।