नई दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस के नेता अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के सम्मान में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा 25 फरवरी को आयोजित आधिकारिक भोज में शामिल नहीं होंगे. सिंह ने पहले निमंत्रण स्वीकार कर लिया था लेकिन उन्होंने इस भोज में शामिल होने में सोमवार को असमर्थता जाहिर की. खबरों के मुताबिक अधीर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के बाद अब गुलाम नबी आजाद ने भी भोज में जाने के इनकार कर दिया है. Also Read - गुलाम नबी आज़ाद और पीएम मोदी की 'दोस्ती' पर कांग्रेस में बवाल शुरू, पुतला फूंका गया, कार्यकर्ता बोले...

सिंह के नजदीकी सूत्रों ने बताया कि उन्होंने भोज में शामिल नहीं हो पाने को लेकर राष्ट्रपति कार्यालय से खेद जताया है. राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद भी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को आमंत्रित नहीं किए जाने के विरोध में आधिकारिक भोज में शामिल नहीं होंगे. Also Read - व्हाइट हाउस से विदाई के बाद पहले भाषण में डोनाल्ड ट्रंप ने भारत पर क्यों साधा निशाना, कहा...

सोनिया गांधी कांग्रेस संसदीय दल की नेता भी हैं. विपक्षी कांग्रेस इस बात को लेकर मोदी सरकार से नाराज है कि उसके शीर्ष नेताओं को भारत आए अमेरिका के राष्ट्रपति के साथ परम्परा के अनुसार बैठक की अनुमति नहीं दी गई. Also Read - गुलाम नबी आज़ाद ने की PM मोदी की तारीफ़ तो बजी तालियाँ, कहा- वो चाय बेचते थे, कम से कम अपनी...

लोकसभा में कांग्रेस के सदस्य अधीर रंजन चौधरी ने भी पार्टी के शीर्ष नेताओं को निमंत्रण नहीं दिए जाने के विरोध में भोज में शामिल नहीं होने का फैसला किया है. कांग्रेस नेताओं ने कहा कि यह संभवत: पहली बार है जब मुख्य विपक्षी दल के नेता यात्रा पर आए किसी राष्ट्राध्यक्ष के सम्मान में आयोजित आधिकारिक भोज में शामिल नहीं होंगे और अलग से बैठक नहीं करेंगे.

(इनपुट भाषा)