नई दिल्‍ली: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने नागपुर में हुए तीन दिवसीय अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा (एबीपीएस) के आखिरी दिन मनमोहन वैद्य और मुकुंद सी.आर. को नया सह सरकार्यवाह (संयुक्त महासचिव) नियुक्त किया है. अब तक संघ में चार सह कार्यवाह होते थे, इन दो लोगों की नियुक्ति के बाद आरएसएस के छह सह सरकार्यवाह हो गए हैं. आरएसएस के चार अन्य सह सरकार्यवाह सुरेश सोनी, कृष्ण गोपाल, दत्तत्रेय होसाबले और वी. भगैया हैं.

पढ़ें: लगातार चौथी बार आरएसएस के महासचिव चुने गए भैयाजी जोशी, 2021 तक रहेंगे पद पर

इससे पूर्व हाल ही में आरएसएस ने बदलाव के बदले स्‍थायित्‍व को तरजीह देते हुए भैया जी जोशी को ही चौथी बार अगले तीन साल के लिए सर कार्यवाह नियुक्‍त किया है. आने वाले चुनावों के मद्देनजर भी कार्यकारिणी के चुनाव में ध्‍यान रखा जा रहा है. रविवार को आरएसएस ने एक ट्वीट में कहा कि सरकार्यवाह भैय्याजी जोशी द्वारा डॉ. मनमोहन वैद्य और मुकुंद के नाम सह कार्यवाह के रूप में घोषित किए गए हैं. इसके अलावा पदाधिकारियों के दायित्‍वों में भी बदलाव किया गया है. इसके तहत डॉ मनमोहन वैद्य को अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख से बदलकर सह सरकार्यवाह बनाया गया है. मुकुंदराव को अखिल भारतीय सह बौद्धिक शिक्षण प्रमुख से बदलकर सह सरकार्यवाह, अरुण कुमार को अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख से बदलकर अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख बनाया गया है.

पढ़ें: 2019 आम चुनाव नजदीक, क्या संघ महत्वपूर्ण बदलाव करेगा? बैठक आज से शुरू

इसके अलावा सुनील जी मेहता को नया दायित्व देते हुए अखिल भारतीय सह बौद्धिक शिक्षण प्रमुख बनाया गया है. जबकि रमेश पप्पा प्रान्त प्रचारक जम्मू कश्मीर से बदलकर अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख बनाए गए हैं. शिवनारायण को क्षेत्र प्रचारक पूर्वी उत्तर प्रदेश से बदलकर प्रकाशन विभाग, दिल्ली, अनिल को प्रांत प्रचारक काशी से बदलकर क्षेत्र प्रचारक पूर्व उत्तर प्रदेश और रमेश जी को सह प्रांत प्रचारक अवध से बदलकर प्रांत प्रचारक काशी बनाया गया है.