पणजी: गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर द्वारा करवाए जा रहे इलाज के मद्देनजर तटीय राज्य के नेतृत्व के मुद्दे पर चर्चा के लिए बीजेपी प्रमुख अमित शाह के साथ पार्टी के नेताओं की गुरुवार को नई दिल्ली में प्रस्तावित बैठक रद्द हो गई. हालांकि भाजपा प्रदेश इकाई के सूत्रों का कहना है कि बैठक इसलिए रद्द हो गई क्योंकि शाह ने राज्य कोर कमेटी को मिलने का समय नहीं दिया. इलाज के लिए 23 अगस्त को मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती हुए पर्रिकर (62) इलाज के फिर अमेरिका जा रहे हैं. Also Read - Coronavirus को लेकर राम गोपाल वर्मा ने किया भद्दा मज़ाक, यूजर्स बोले- थोड़ी तो शरम करो, पुलिस लेगी एक्शन

क्या जम्मू-कश्मीर में बनेगी बीजेपी की सरकार? विधायकों और पार्टी नेताओं की हुई हाई लेवल मीटिंग Also Read - कांग्रेस ने सामूहिक पलायन पर सरकार से पूछे सवाल, कहा- गरीबों की जिंदगी मायने रखती है या नहीं

इससे पहले, केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने संवाददाताओं से यहां कहा था कि पर्रिकर के स्वास्थ्य को देखते हुए भाजपा की कोर कमेटी वैकल्पिक नेतृत्व व्यवस्था पर चर्चा के लिए शाह से मिलेगी. इस बीच, गोवा में नेतृत्व बदलाव की अटकलों को विराम देने के प्रयास में मुख्यमंत्री कार्यालय ने बुधवार रात कहा कि पर्रिकर किसी को पदभार नहीं सौंपेंगे और वे अमेरिका से ही फाइलों को मंजूरी देते रहेंगे. Also Read - Covid-19 Fight: कोरोना से लड़ने के लिए केंद्र सरकार का एक और बड़ा कदम, गठित हुईं 11 टीमें

‘यूपी की नारी अब नहीं बेचारी’ नारे के साथ एक हजार शक्ति परियां साइकिल लेकर उतरीं सड़क पर, जानें पूरी बात

केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि पर्रिकर को स्वयं को स्वस्थ्य रखने को प्राथमिकता देनी चाहिए और मुख्यमंत्री पद छोड़ने या नहीं छोड़ने का फैसला, वही करेंगे. पर्रिकर के स्वास्थ्य को लेकर पैदा हो रही चिंताओं को दूर करने का प्रयास करते हुए नाइक ने कहा कि मुख्यमंत्री को ‘मामूली समस्याएं’ हैं और वह अमेरिका में आठ दिन रहेंगे. इससे पहले गोवा विधानसभा के अध्यक्ष प्रमोद सावंत ने बताया था कि पर्रिकर (62) अपने स्वास्थ्य से जुड़ी कुछ समस्याओं के इलाज के लिए अमेरिका रवाना होंगे.

चीन में मोदी के मंत्री ने कहा-लिंचिंग से देश की छवि को पहुंचता है नुकसान

पर्रिकर अग्नाशय की समस्या से पीड़ित हैं और इस साल अमेरिका में लगभग तीन माह तक इलाज कराने के बाद वह जून में स्वदेश लौटे थे. इसके बाद इलाज के लिए वह इस महीने की शुरुआत में एक बार फिर अमेरिका गए थे. अमेरिका से वापस लौटने के एक दिन बाद पर्रिकर को 23 अगस्त को मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था. नाइक और पार्टी की गोवा इकाई के प्रमुख विनय तेंदुलकर की अगुवाई में भाजपा नेता शाह से मिलेंगे.

केंद्रीय मंत्री ने पणजी में संवाददाताओं से कहा, “हम (भाजपा की कोर टीम) पर्रिकर के स्वास्थ्य को देखते हुए वैकल्पिक नेतृत्व पर चर्चा के लिए शाह से मिलेंगे. नाइक से जब पूछा गया कि क्या पर्रिकर को मुख्यमंत्री पद छोड़ देना चाहिए तो केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘हां..पार्रिकर को स्वस्थ रहने को प्राथमिकता देनी चाहिए. यह निर्णय पर्रिकर को करना है कि मुख्यमंत्री पद पर बने रहा जाए या नहीं. यह उनका निर्णय होगा और उन्हें यह करने दीजिए.’