पणजी. गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर रविवार दोपहर को नई दिल्ली से अपने गृहराज्य लौट आए. नयी दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में अग्नाश्य संबंधी बीमारी को लेकर उनका इलाज चल रहा था. पर्रिकर एक विशेष विमान से यहां पहुंचे. फिर उन्हें एम्बुलेंस से डोना पॉला में उनके निजी निवास पर ले जाया गया. उनका विमान यहां डाबोलिम हवाई अड्डे पर दो बजकर 35 मिनट पर पहुंचा. नौसेना एंक्लेव आईएनएस हंसा के द्वार से एंबुलेंस लाया गया. आईएनएस हंसा नौसेना संचालित इस हवाई अड्डे का हिस्सा है. Also Read - Goa CM Tests Covid-19 Positive: कोरोना वायरस से संक्रमित हुए गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत, खुद ट्वीट कर दी जानकारी...

पर्रिकर को रविवार सुबह को नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) से छुट्टी मिल गई थी. एम्स के सूत्रों के अनुसार सुबह में स्थिति बिगड़ने पर उन्हें कुछ देर के लिए सघन चिकित्सा कक्ष (ICU) में ले जाया गया था. बाद में अस्पताल प्रशासन ने उन्हें छुट्टी देने का निर्णय लिया. सरकारी गोवा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल ने मुख्यमंत्री के निजी निवास पर व्यापक इंतजाम किया है और उनकी सेहत की देखभाल के लिए डॉक्टरों की एक टीम तैयार की गयी है. Also Read - गोवा: मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल में भर्ती

अस्पताल में ली थी मीटिंग
पर्रिकर को 15 सितंबर को दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था. पर्रिकर ने यह सुनिश्चित करने के लिए शुक्रवार को पार्टी की गोवा इकाई की कोर समिति के सदस्यों और गठबंधन के सहयोगी दलों के मंत्रियों के साथ एम्स में बैठक की थी कि खराब स्वास्थ्य के कारण उनकी अनुपस्थिति के दौरान सरकार सामान्य रुप से चलती रहे. पर्रिकर से अलग-अलग भेंट करने वाले सत्तारुढ़ भाजपा और उसके सहयोगी दलों के नेताओं ने इस तटीय राज्य में नेतृत्व परिवर्तन से इनकार किया था.

पहले से बेहतर तबीयत
पर्रिकर मध्य फरवरी से ही बीमार चल रहे हैं और उनका गोवा, मुम्बई और अमेरिका समेत विभिन्न जगहों के अस्पतालों में इलाज हुआ है. इससे पहले दिन में केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाईक ने यहां संवाददाताओं से कहा था कि यदि पर्रिकर का गोवा में इलाज चलता है तो कोई दिक्कत नहीं है लेकिन उन्हें आराम की जरूरत होगी. उन्होंने कहा था, पिछले महीने जब उन्हें एम्स ले जाया गया था, तब की तुलना में उनके स्वास्थ्य में सुधार आया है. उन्होंने यह भी कहा था कि वह शुक्रवार को पर्रिकर से मिले थे.

आराम की जरूरत
केंद्रीय मंत्री श्रीपाद नाईक ने रविवार को कहा कि गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के स्वास्थ्य में सुधार आया है लेकिन नयी दिल्ली से लौटने के बाद उन्हें आराम की जरुरत होगी. नाईक ने गोवा विधानसभा भंग किये जाने की किसी भी संभावना से इनकार किया और विश्वास व्यक्त किया कि पर्रिकर की अगुवाई वाली सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी. पर्रिकर की अस्वस्थता के चलते विपक्षी कांग्रेस ने गोवा सरकार के स्थायित्व पर प्रश्न खड़ा किया है.