नई दिल्ली: देश में कोरोना (Coronavirus) का प्रसार तेजी से हो रहा है. देश के कई राज्यों में हालात बेकाबू हो रहे हैं. जितनी तेजी से देश में संक्रमण फैल रहा है उतनी ही तेजी से हमार सामने रोज इससे होने वाली मौतो की संख्या भी सामने आ रही है. इस वयारस की वजह से देश के हजारों परिवारों ने अपनो को खो दिया. इस बीच हैदराबाद (Hyderabad) से एक बहुत ही दुखद मामला सामने आया. मामला हैदराबाद के एक अस्पताल का है जहां एक कोविड-19 (Covid-19 Infection) संक्रमित व्यक्ति की मौत हो गई. व्यक्ति ने मरने से पहले अपने परिवार वालों को कॉल और मैसेज भी किया था. Also Read - गृहमंत्री अमित शाह ने बुलाई बैठक, योगी आदित्यनाथ, अरविंद केजरीवाल और मनोहर लाल खट्टर होंगे शामिल

जानकारी के अनुसार ये पूरा मामला हैदराबाद के एक चेस्ट हॉस्पिटल का है. यहां 34 साल के एक व्यक्ति को कोरोना वायरस के लक्षण के तहत भर्ती किया गया था. शुक्रवार को उस शख्स की मौत हो गई. परिवार वालों ने बाताय कि मौत से पहले व्यक्ति ने वीडियो कॉल की थी. बताजा जा रहा है कि व्यक्ति ने मौत से कुछ देर पहले अपने पापा को मैसेज किया था कि वह सांस नहीं ले पा रहा है. उसे सांस लेने में काफी दिक्कत हो रही है और कुछ देर बाद ही उन्हें उसकी मौत की खबर मिली. Also Read - Maharashtra News Today 2 July 2020 : मुंबई-ठाणे में एक दिन में कोरोना से 105 लोगों की मौत, थमने का नाम नहीं ले रहा आंकड़ा!

परिजन लगातार अस्पताल पर आरोप लगा रहे हैं. उनका कहना है कि अस्पताल स्टाफ ने वेंटिलेटर को हटा दिया था जिसकी वजह से उसे सांस लेने में दिक्कत हुई और उसे अपनी दिल की धड़कन रुकने का भी एहसास हो रहा था. उनका आरोप है कि अस्पताल की लापरवाही के चलते युक तीन घंटे तक तड़पता रहा. युवक ने परिवार को वीडियो कॉल भी किया था जो कि इस समय सोशल मीडिया में वायरल भी हो गया. Also Read - Coronavirus In India Update: 24 घंटे में 434 लोगों की हुई मौत, संक्रमितों की संख्या 5 लाख के पार

इन आरोप पर अस्पताल प्रशासन ने कहा कि सभी आरोप बेबुनियाद है और वह युवक आक्सीजन में ही था. बताया जा रहा  है कि युवक के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि उसके अंतिम संस्कार के बाद हुई.