नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को लोगों से लॉकडाउन का गंभीरता से पालन करने की अपील करते हुए राज्य सरकारों से कहा कि वे नियमों और कानूनों का पालन कराना सुनिश्चित करें. मोदी ने ट्वीट किया, ”लॉकडाउन को अब भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें.” Also Read - कोरोना वायरस से संक्रमित बोरिस जॉनसन आईसीयू में भर्ती, पीएम मोदी ने की जल्द ठीक होने की कामना

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वे नियमों और कानूनों का पालन करवाएं.’ Also Read - CoronaVirus: फिल्म निर्माता करीम मोरानी की दोनों बेटियां भी हुईं कोरोना वायरस से संक्रमित

इससे एक दिन पहले ही केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के मद्देनजर राज्य सरकारों से उन 75 जिलों में केवल आवश्यक सेवाओं का ही परिचालन किये जाने का आदेश जारी करने को कहा है, जहां कोविड-19 के पुष्ट मामले सामने आए या जहां इससे लोगों की मौत हुई है. इनमें दिल्ली के सात जिले शामिल हैं. इससे साथ ही अंतरराज्यीय बस सेवाएं भी 31 मार्च तक बंद रखने का फैसला किया गया है. इसके अलावा 31 मार्च तक दिल्ली मेट्रो समेत सभी मेट्रो सेवाएं भी स्थगित रहेंगी. Also Read - कोरोना से अब तक 111 लोगों की मौत, भारत में 4281 हुई संक्रमितों की संख्या; राज्यों ने दिए लॉकडाउन बढ़ाने के संकेत

देश के जिन 75 जिलों में केवल आवश्यक सेवाओं का ही परिचालन किए जाने का फैसला किया गया है, उनमें दिल्ली से सेंटल, पूर्वी दिल्ली, उत्तर दिल्ली, उत्तर पश्चिम दिल्ली, उत्तर पूर्व दिल्ली, दक्षिण दिल्ली, पश्चिम दिल्ली शामिल हैं.

75 जिलों की सूची में उत्तर प्रदेश का वाराणसी, गाजियाबाद, जीबी नगर, लखीमपुर खीरी, आगरा, लखनऊ शामिल है. महाराष्ट्र में अहमदनगर, औरंगाबाद, मुम्बई, नागपुर, मुम्बई उपनगरीय, पुणे, रत्नागिरि, रायगढ़, ठाणे, यवतमाल तथा केरल का अलापुझा, एर्नाकुलम, इडुकी, कन्नूर, कसारगोड, कोट्टयम, मल्लपुरम, तिरूवनंतपुरम, पथानामथिटा, त्रुसूर शामिल है. इसमें कर्नाटक से बेंगलूर, चिकबल्लभपुर, मैसूर, कोडागू, कालबुर्गी शामिल है. गुजरात से कच्छ, राजकोट, गांधीनगर, सूरत, बड़ोदरा, अहमदाबाद तथा हरियाणा से फरीदाबाद, सोनीपत, पंचकुला, पानीपत, गुरूग्राम और हिमाचल प्रदेश से कांगड़ा शामिल है .

पंजाब से होशियारपुर, एसएएस नगर, एसबीएस नगर तथा राजस्थान से भीलवाड़ा, झुंझनू, सिकर, जयपुर तथा तमिलनाडु से चेन्नई, इरोड और कांचीपुरम शामिल है. तेलंगाना से हैदराबाद, भद्राद्री कोथागुडम, मेदचई, रंगा रेड्डी, संगारेड्डी तथा उत्तराखंड से देहरादून शामिल है. इस सूची में पश्चिम बंगाल से कोलकाता एवं उत्तरी 24 परगना, ओडिशा से खुर्दा तथा उत्तराखंड से श्रीनगर, जम्मू के अलावा चंडीगढ़ और आंध्रप्रदेश के प्रकाशम, विजयवाडा, विशाखापत्तनम शामिल हैं.

प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में एअर इंडिया कर्मियों के साहस की प्रशंसा की
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना वायरस प्रभावित देशों में फंसे लोगों को निकालने में एअर इंडिया के चालक दल के कमियों के योगदान की सोमवार को प्रशंसा की. इससे एक दिन पहले ही एयरलाइन ने शिकायत की थी कि उसके चालक दल के जो कर्मी अपनी ड्यूटी पर विदेश गए थे, उन्हें कुछ रेसिडेंट वेलफेयर एसोशिएसन और पड़ोसियों के बहिष्कार का सामना करना पड़ रहा है.

बहरहाल, प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, ”एअर इंडिया की टीम पर काफी गर्व है, जिन्होंने मानवता के आह्वान पर आगे बढ़कर अपूर्व साहस का परिचय दिया.” उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की लड़ाई में उनके अभूतपूर्व योगदान की पूरे भारत से कई लोगों ने सराहना की. प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी को टैग किया. पुरी ने अपने ट्वीट में कहा था कि जब कठिन समय होता है तब मजबूत आगे बढ़ता है.

पुरी ने अपने ट्वीट में कैप्टन स्वाति रावल और कैप्टन राजा चौहान के नेतृत्व वाले एअर इंडिया के बोइंग 777 विमान के चालक दल के कर्मियों का चित्र भी पोस्ट किया जिसके माध्यम से रोम में फंसे 263 भारतीयों को वापस लाया गया था .