नई दिल्ली: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में रविवार रात हुई हिंसा के बाद छात्राएं सुरक्षा के डर से सोमवार को परिसर छोड़ कर जाने लगीं. कुछ अपने घर लौट गईं और कुछ अपने रिश्तेदारों के यहां चली गई हैं. उन्हें छात्रावास से अपने बैग लेकर बाहर निकलते देखा गया. दक्षिणी दिल्ली स्थित विश्वविद्यालय परसिर से बाहर निकल रही कई छात्राओं ने नाम गोपनीय रखने का आग्रह किया और कहा कि उनके परिजन रविवार को हुई हिंसा के बाद उनकी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं. Also Read - Breaking: दिल्ली हिंसा केस में जेल गए उमर खालिद को मिली जमानत, कोर्ट ने पुलिस के लिए कही ये बात

कोयना छात्रावास की पंचम ने कहा कि वह अपनी सुरक्षा के डर से परिसर छोड़ रही हैं. उन्होंने कहा कि मेरे माता-पिता मेरी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं और वह वापस हरियाणा जा रही हैं. नेपाल की रहने वाली एक छात्रा ने कहा कि उसके माता-पिता ने उससे कैंपस छोड़ने को कहा है. Also Read - CUCAT 2021-22: DU,JNU,BHU सहित सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों के लिए एक होगा एंट्रेंस टेस्ट! जानिए क्या है इसको लेकर सरकार की योजना

हालांकि यहां कुछ अपवाद भी देखने को मिले जिन्होंने कहा कि वे परिसर छोड़ कर नहीं जाएंगी क्योंकि उनकी कुछ जिम्मेदारियां हैं. Also Read - EX JNU Student Leader Shehla Rashid Attacks Her Father: JNU की पूर्व छात्र नेता शहला राशिद ने कहा- एक दुष्ट व्यक्ति है मेरा बायोलॉजिकल पिता

(इनपुट भाषा)