चेन्नई: तमिलनाडु पुलिस ने पुनर्मूल्यांकन के दौरान अतिरिक्त अंक देने और कुछ इंजीनियरिंग के छात्रों से पैसे लेने के आरोप में अन्ना विश्वविद्यालय के पूर्व परीक्षा नियंत्रक समेत 10 प्रोफेसरों पर मामला दर्ज किया है. अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि राज्य पुलिस की भ्रष्टाचार रोधी शाखा ने दस प्रोफेसरों के परिसरों की तलाशी ली और दस्तावेज जब्त किए.

पुलिस को ‘‘विश्वस्त सूचना’’ मिली थी कि आरोपियों ने इंजीनियरिंग के छात्रों से रुपये लिए जिन्होंने पिछले साल परीक्षा दी थी और उन्हें पूनर्मूल्यांकन के दौरान ‘‘अतिरिक्त अंक’’ दिए. इस सूचना के आधार पर यह कार्रवाई की गई.

पति की सहमति से दूसरे विवाहित पुरुष से संबंध बनाना व्यभिचार नहीं: सुप्रीम कोर्ट

अधिकारियों ने बताया कि सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी निदेशालय (डीवीएसी) ने पूर्व परीक्षा नियंत्रक जी वी उमा, तिंडीवनम जोनल अधिकारियों और सहायक प्रोफेसर पी विजयकुमार और शिवकुमार तथा सात अन्य पर ‘‘साजिश रचने, धोखाधड़ी और जालसाजी’’ के आरोपों पर मामला दर्ज किया.

भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को पत्नी हसीन जहां ने बताया ‘420’

इसके बाद डीवीएसी अधिकारियों ने उमा के चेन्नई स्थित आवास, विजयकुमार और शिवकुमार के तिंडीवनम के आवासों और अन्ना विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक के कार्यालय पर तलाशी ली. उन्होंने बताया कि तलाशी के दौरान पुनर्मूल्यांकन में कथित अनियमितताओं और आरोपियों की संपत्तियों से जुड़े दस्तावेज जब्त किए गए.