पटनाः बिहार में सोमवार को ईंधन की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस द्वारा बुलाए गए राष्ट्रव्यापी बंद के कारण रेल और सड़क यतायात प्रभावित हुआ. इस बंद को राष्ट्रीय जनता दल (राजद), वामपंथी दल और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) का समर्थन प्राप्त है. इस बीच सांसद पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के कार्यकर्ताओं ने पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल पर लेट गए. इससे पटना में रेल यतायात पर व्यापक असर पड़ा है. पटना के कई इलाकों में सड़कों पर भी भारी जाम लगने की सूचना है.

बिहार के विभिन्न हिस्सों में सोमवार सुबह से सैकड़ों कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल के नेता और कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आए. पटना, गया, भोजपुर, जहानाबाद, भागलपुर और मुजफ्फरपुर रेलवे स्टेशनों पर एक दर्जन से अधिक लंबी दूरी की ट्रेनों को रोक दिया गया. कई जगहों पर कार्यकर्ताओं को विरोध के लिए सड़कों पर जलते हुए टायर फेंके. प्रदर्शनकारियों ने केंद्र सरकार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ नारे लगाए. कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए पूरे राज्य में अतिरिक्त सुरक्षा तैनात की गई है. फिलहाल, कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है.