गुवाहाटी: असम के तिनसुकिया जिले में स्थित बागजान तेल कुंआ में मंगलवार को भीषण आग लग गई. कुएं से पिछले 14 दिन से अनियंत्रित तरीके से गैस का रिसाव हो रहा था. आधिकारिक सूत्रों ने उक्त जानकारी दी. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि ऑयल इंडिया लिमिटेड के तेल कुएं में लगी आग इतनी भीषण है कि उसकी लपटें दो किलोमीटर से भी ज्यादा दूरी से देखी जा सकती हैं. Also Read - गुजरात में भारी बारिश; असम में बाढ़ की स्थिति में सुधार, कुछ ऐसा है बाकी जगहों का हाल

आज दोपहर कुएं में आग लगने के वक्त सिंगापुर की फर्म ‘‘अलर्ट डिजास्टर कंट्रोल’’ के तीन विशेषज्ञ वहां मौजूद थे और वहां से कुछ उपकरणों से हटाया जा रहा था. तीनों विशेषज्ञ गैस रिसाव को बंद करने का प्रयास कर रहे थे. कंपनी के एक प्रवक्ता ने बताया कि अभी तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है. Also Read - असम में बाढ़ ने बढ़ाई मुश्किल, 10 लाख से अधिक लोग प्रभावित, बिहार में मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

अधिकारियों ने बताया कि दमकलकर्मी मौके पर मौजूद हैं और आग पर काबू पाने की कोशिश जारी है. उन्होंने बताया कि आग लगने के कारणों का अभी पता नहीं है. मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल के कार्यालय ने ट्वीट किए हैं. उसमें बताया गया है कि मुख्यमंत्री ने घटना के संबंध में केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से फोन पर बात की. Also Read - गृहमंत्री अमित शाह ने बाढ़ प्रभावित बिहार व असम के मुख्यमंत्रियों से की बात, दिया हर मदद का भरोसा

उसने लिखा है, ‘‘मुख्यमंत्री ने स्थिति पर नियंत्रण के लिए दमकल एवं आपात सेवाओं के कर्मियों, सेना और पुलिस को मौके पर तैनात करने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन से लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा और स्थानीय लोगों से अपील की है कि वे ना घबराएं.’’

डिब्रू-साईखोवा राष्ट्रीय उद्यान के पास स्थित इस कुएं में विस्फोट हुआ था जिसके बाद अनियंत्रित तरीके से गैस का रिसाव होने लगा. जिला प्रशासन ने प्राकृतिक गैस के रिसाव और उसके प्रभावों के मद्देनजर आसपास रहने वाले हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है.

घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने कहा कि भारत के इतिहास में ये ऑयल एंड गैस में लगी सबसे भीषण आग है. ये इलाका एपिडेमिक बर्ड हैबिटेट के साथ डॉल्फिन्स और अन्य पानी के जीवों का घर है. मैं प्रधानमंत्री जी से अपील करता हूं कि ये हमारे जीव-जंतुओं और प्रकृति के जीवन का सवाल है. कृपया इस पर ध्यान दें.

(इनपुट भाषा)