नई दिल्ली: सरकार द्वारा लॉकडाउन में छूट दिए जाने के बाद दिल्ली में भारी ट्रैफिक जाम देखने को मिला. कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देश में 17 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ाया गया है लेकिन इस दौरान लोगों को लॉकडाउन में कई छूट दी गई हैं. सोमवार से शुरू हुए लॉकडाउन के तीसरे चरण में लोगों को शर्तों के साथ बाहर आने की इजाजत मिली लेकिन इस दौरान काफी संख्या में लोग बाहर निकले जिसके परिणामस्वरूप द्वारका-पालम फ्लाईओवर पर भारी ट्रैफिक देखने को मिला. Also Read - दिल्‍ली एम्स में अभी तक 195 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, 2 की जान गई

इससे पहले राष्ट्रीय राजधानी में 40 दिन से लागू सख्त लॉकडाउन के बीच सोमवार को थोड़ी राहत मिलने के बाद सरकारी और निजी कार्यालयों ने सीमित कर्मचारियों के साथ काम दोबारा शुरू किया. धीरे-धीरे कामकाज शुरू करने के लिए दिल्ली में इलेक्ट्रॉनिक्स और वाहन के पार्ट्स की दुकानों समेत अन्य दुकानें भी खोली गईं.

हालांकि, बड़े बाजारों में एहतियात के तौर पर कम ही संख्या में दुकानें खुलीं और कई दुकानदारों ने कहा कि ग्राहकों की संख्या बेहद कम है. दिल्ली सरकार के गैर-जरूरी सेवाओं से संबंधित विभागों ने भी कर्मचारियों की सीमित संख्या के साथ कामकाज शुरू कर दिया. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी 25 मार्च से लागू लॉकडाउन के बाद मंत्रिमंडल की पहली बैठक की.

कई सप्ताह से खाता संबंधित लंबित कामों को निपटाने के लिए भी बैंकों के बाहर लोग अपनी बारी का इंतजार करते दिखे. कई इलाकों में आइसक्रीम बेचने वाले भी गलियों में रेहड़ी लेकर घूमते दिखे. शराब की दुकानों के बाहर लंबी कतारें देखी गईं और इस दौरान कुछ स्थानों पर लोग सामाजिक दूरी के नियमों का उल्लंघन करते पाए गए. ऐसे में प्रशासन को या तो दुकान बंद करवानी पड़ी अथवा अनुशासन बनाए रखने के लिए हल्का बल प्रयोग करना पड़ा.