मथुरा: शहर में मंगलवार को सर्राफा कारोबारियों के साथ हुई खौफनाक लूट और हत्या को देखकर हर कोई सिहर उठा है. शहर ताबड़तोड़ वारदातों से कांप रहा है. यहां दहशत का आलम यह है कि व्यापारियों ने खुद को दुकानों के अंदर बंद कर लिया है. चारों तरफ सन्नाटा पसरा हुआ है. ना ही लोग खुद को घर में सुरक्षित मान रहे हैं और न बाजार में. घटना के बाद कारोबारी सबसे ज्यादा दहशत में हैं. बुधवार को भी मथुरा बंद की घोषणा कर दी गई है.Also Read - UP News: 25 लाख और क्रेटा कार के बदले छोड़ दिए अपराधी, अब नोएडा पुलिस का सख्त एक्शन- क्राइम ब्रांच अधिकारी बर्खास्त

आगरा पहुंचे DGP और मंत्री श्रीकांत शर्मा  Also Read - Lucknow Girl से थप्पड़ खाने वाला कैब ड्राइवर बन गया नेता, बोला- अब पुरुषों का मसीहा बनूंगा | Viral हुआ Video

हालात का जायजा लेने प्रदेश के कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा और डीजीपी सुलेखान सिंह भी मथुरा पहुंच गए हैं. श्रीकांत शर्मा इस दौरान मृतकों के परिजनों से मिलने भी जाएंगे. इससे एक दिन पहले यानि मंगलवार को  संवेदन व्यक्त करने बीजेपी के नेता भी पहुंचे. व्यापारियों ने उन्हें खूब खरी खोटी सुनाई. Also Read - Viral News: भगवान कृष्ण की मूर्ति की 'टूटी बांह' लेकर रोते हुए अस्पताल पहुंचा पुजारी, डॉक्टरों ने बांधी पट्टी

सूर्यकांत और भाजपा नेता एसके शर्मा को शमशान घाट से भगाया

मथुरा-वृंदावन के विधायक और प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के प्रतिनिधि उनके भाई सूर्यकांत और बीजेपी नेता एसके शर्मा को व्यापारियों के विरोध का सामना करना पड़ा. घाट पर अंतिम संस्कार की तैयारी चल ही रही थी कि भाजपा जिलाध्यक्ष तेजवीर सिंह, ऊर्जा मंत्री श्रीकांत के भाई सूर्यकांत और भाजपा नेता एसके शर्मा घाट पर पहुंच गए. सूर्यकांत को देखते ही व्यापारी भड़क गए. व्यापारियों ने नेताओं के खिलाफ नारेबाजी कर सभी को दौड़ा लिया.

ADG ने किया घटनास्थल का मुआयना

मंगलवार को एडीजी आगरा जोन अजय आनंद भी मथुरा पहुंचे. उन्होंने जल्द ही घटना का खुलासा किए जाने का भरोसा दिलाते हुए कहा कि पुलिस की टीम अपराधियों की छानबीन में जुटी हुई हैं.  इससे पहले सोमवार रात घटना की सूचना मिलने के बाद आईजी आगरा अशोक जैन मथुरा पहुंच गए थे और एसएसपी वीके मिश्रा के साथ घटनास्थल का निरीक्षण किया था.

तीन सिपाही निलंबित

एसएसपी ने ड्यूटी में लापरवाही पाए जाने पर होलीगेट चौकी प्रभरी प्रदीप कुमार और दो सिपाही अनिल व नरेंद्र को निलंबित कर दिया है. हत्यारों का पता लगाने के लिए पुलिस सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है, जिसमें बदमाश घटना को अंजाम देते दिखाई दे रहे हैं.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को विधान सभा में कहा कि कानून-व्यवस्था को लेकर किसी के साथ पक्षपात नहीं होने दिया जाएगा और हर मामले में निष्पक्ष कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी. उन्होंने कहा कि घटना के लिए जो भी अपराधी जिम्मेदार हैं, उन्हें छोड़ा नहीं जाएगा.

क्या है पूरा मामला?

यूपी के मथुरा में सोमवार रात खौफनाक घटना हुई. शहर कोतवाली क्षेत्र की कोयला वाली गली में सिविल लाइंस निवासी सर्राफा कारोबारी मयंक अग्रवाल की जूलरी शॉप है. सोमवार रात करीब साढ़े आठ बजे मयंक दुकान बंद करने की तैयारी कर रहे थे. इस दौरान उनके साथ उनका भाई विकास अग्रवाल, कारोबारी मेघ अग्रवाल और दो कारीगर मोहम्मद अली और अशोक मौजूद थे. बाइकों पर आए आधा दर्जन हथियारों से लैस बदमाशों ने दुकान में घुसकर फायरिंग शुरू कर दी. इसके बाद बदमाश दुकान में रखे करोड़ों की कीमत के सोने की जूलरी लूटकर फरार हो गए. गोली लगने से व्यापारी विकास और मेघ की मौत गई, जबकि घायल मयंक के साथ कारीगर अशोक और मोहम्मद अली का अस्पताल में इलाज चल रहा है.

लूट की वारदात CCTV में कैद

लूट की पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है. दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में लूट की घटना साफ-साफ दिखाई दे रही है. बदमाश अपने मुंह को हेलमेट और कपड़ों से ढके हुए थे. बदमाश दुकान में शीशे का दरवाजा खोलते हुए दाखिल हुए. दुकान मालिकों ने बदमाशों को गेट पर रोकने की कोशिश की तो बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी. लुटेरों ने बड़े ही आराम से दुकान से सोना और नकदी अपने बैग और जेबों में भरा. सीसीटीवी कैमरे का टीवी उखाड़कर तोड़ डाला और लूट करके चले गए.