नई दिल्ली: पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के अचानक निधन पर पूरा देश शोक में डूबा हुआ है. भाजपा मुख्यालय में उनके अंतिम दर्शनों के लिए हजारों लोग पहुंचे और अपनी शोक संवदेना प्रकट की. इसमें प्रधानमंत्री से लेकर आम आदमी तक शामिल हुआ. इस दौरान एक पल बेहद भावुक करने वाला रहा, जब एमडीएच मसाला कंपनी के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी शोक प्रकट करने पहुंचे. बेटी समान सुषमा स्वराज के निधन पर वे श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद वहीं बैठकर फफक-फफक कर रो पड़े. ऐसे में उनके साथ के लोगों ने उन्हें संभाला.

 

96 वर्षीय महाशय धर्मपाल गुलाटी मशहूर मसाला कंपनी एमडीएच के मालिक हैं. वे बुधवार को भाजपा मुख्यालय पहुंचे और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि अर्पित की. सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि देते समय धर्मपाल गुलाटी खुद की भावनाओं को रोक नहीं सके और वहीं बैठकर भावुक होकर रोने लगे. सुषमा के जाने का गम उनके आंसुओं में साफ नजर आ रहा था. सुषमा उनकी बेटी के समान थी.

बड़ी संख्या में लोगों ने दी श्रद्धांजलि
बता दें कि पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का मंगलवार रात दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था. भाजपा की वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के अंतिम दर्शन के लिए पार्टी मुख्यालय में बड़ी तादाद में कार्यकर्ता और प्रशंसक पहुंचे. इस दौरान पार्टी के शीर्ष नेताओं समेत लोगों ने उन्हें अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने स्वराज के पार्थिव शरीर पर राष्ट्रीय ध्वज डाला और उन्होंने श्रद्धाजंलि दी.

“जबतक सूरज चांद रहेगा, सुषमा तेरा नाम रहेगा” ने नारे लगे
सुषमा का मंगलवार को 67 वर्ष की आयु में निधन हो गया था। बुधवार को उनका पार्थिव शरीर उनके आवास से पार्टी मुख्यालय लाया गया. भाजपा की अग्रिम पंक्ति की नेताओं में शुमार और दशकों तक कद्दावर महिला नेता रहीं सुषमा का लोधी रोड श्मशान पर अंतिम संस्कार किया जाएगा. सुषमा के निधन से शोकाकुल प्रशंसकों ने “जबतक सूरज चांद रहेगा, सुषमा तेरा नाम रहेगा” के नारे लगाकर अपने प्रिय नेता को श्रद्धाजंलि दी. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर समेत वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी मुख्यालय पहुंचकर सुषमा को श्रद्धाजंलि दी.