कोलकाता. पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव की तैयारियां जोरों पर हैं. सत्ताधारी तृलमूल कांग्रेस, वाम दल और बीजेपी चुनाव में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती हैं. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले से बरी हुए स्वामी असीमानंद पंचायत चुनाव में बीजेपी के लिए प्रचार करेंगे. वह राज्य में पार्टी की स्थिति को मजबूत करने की भी जिम्मेदारी संभालेंगे. बता दें कि असीमानंद का नाम नबकुमार सरकार है. वह बंगाल के हुगली जिले के रहने वाले हैं. उनकी फैमिली आज भी वहां रहती है.

आरएसएस के पूर्व प्रचारक और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, उनकी असीमानंद से पहले से बात हो चुकी है. वह राज्य में पार्टी को मजबूत करने के लिए सहमत हैं और काम करेंगे.

बता दें कि सोमवार को एनआईए कोर्ट ने हैदराबाद के मक्का मस्जिद केस में असीमानंद सहित पांच आरोपियों को बरी कर दिया था. यह ब्लास्ट 18 मई 2007 को हुई था, जिसमें 9 लोगों की जान चली गई थी. वहीं, 58 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे.

इस ब्लास्ट में असीमानंद को सीबीआई ने साल 2010 में गिरफ्तार किया था. बाद में यह केस एनआईए को सौंप दिया गया था. बता दें कि असीमानंद पहले भी आरएसएस के प्रचारक रह चुके हैं.