नई दिल्ली: बीजेपी नेता मीनाक्षी लेखी ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में राजद द्वारा जंतर मंतर पर आयोजित धरना और कैंडल मार्च में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी पर तंज कसा है. लेखी ने कहा है कि बिहार में जंगलराज के दोषी राजद के कार्यक्रम में राहुल की मौजूदगी वैसी ही है जैसी जाटों के गांव में होती है. उन्होंने मजाकिया लहजे में कहा कि जाटों के गांव में सरपंच को चुनौती वही देता है जो सबसे ज्यादा शराब पीता है और जो सबसे ज्यादा कमजोर होता है.

मीनाक्षी ने आगे कहा कि राहुल के विरोध प्रदर्शन में प्रियंका गांधी तक की सुरक्षा की गारंटी नहीं होती. ऊपर से इसमें तेजस्वी यादव भी शामिल हैं. ऐसे में महिलाओं की सुरक्षा नहीं हो सकती. मीनाक्षी कठुआ गैंगरेप पर राहुल गांधी द्वारा नई दिल्ली में आयोजित विरोध प्रदर्शन का हवाला दे रही थीं. आधी रात को आयोजित इस प्रदर्शन में अफरातफरी और धक्का-मुक्की हुई थी.

नीतीश को चिट्ठी लिख धरना देने दिल्ली पहुंचे तेजस्वी यादव, केजरीवाल की भी लोगों से अपील

बता दें कि मुजफ्फरपुर शेल्टर होम स्कैंडल के विरोध में राजद नेता तेजस्वी यादव के आह्वान पर शनिवार को दिल्ली में धरना प्रदर्शन आयोजित है. इसके लिए राजद नेताओं के साथ विपक्ष के भी कई नेता जंतर-मंतर पर पहुंचने वाले हैं. इसे सफल बनाने के लिए आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने दिल्लीवालों से जंतर मंतर पहुंचने की अपील की है.

नीतीश कुमार को तेजस्वी यादव की चिट्ठी- 7 बहनों का भाई, मामा-चाचा भी, मैं सो नहीं पाता

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा ‘‘दिल्ली के लोगों से अपील है कि हमारी बहन बेटियों की सुरक्षा के लिए आज जंतर मंतर पर शाम पांच बजे जरूर आयें.’’ केजरीवाल स्वयं इस धरने में शामिल होने की सहमति पहले ही दे चुके हैं.