मेरठ: एसएसपी कार्यालय पर आज एक महिला ने कथित तौर पर आत्मदाह का प्रयास किया जिससे पुलिस कार्यालय में हड़कंप मच गया. महिला पुलिसकर्मियों ने काफी मशक्कत कर महिला को बचाया. महिला ने जहां पुलिस पर कार्रवाई न करने का आरोप लगाया. वहीं, पुलिस की जांच में पता चला कि महिला तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज कराकर उन्हें ब्लैकमेल कर रही थी. पैसे ना देने पर उसने दो दिन पहले आत्मदाह करने की बात कही थी. यह ऑडियो मिलने के बाद पुलिस ने महिला को हिरासत में ले लिया है.

दो साल पहले हुई थी गैंगरेप की शिकार, अब कोचिंग से लौटते समय हुई छेड़खानी

नौचंदी थाना क्षेत्र निवासी 45 वर्षीय महिला का कहना है कि वह प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करती है. गत 14 दिसंबर को मेडिकल थाना क्षेत्र के कालिया गढ़ी निवासी सुबोध त्यागी, ताराचंद और जयपाल उसे जमीन दिखाने के बहाने भावनपुर क्षेत्र के गांव किनानगर स्थित खेत पर ले गए और वहां कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया. महिला तीन दिन पहले भी एसएसपी ऑफिस आई थी. उसने पुलिस पर कार्रवाई ना करने का आरोप लगाया था. सोमवार को महिला एसएसपी ऑफिस के बाहर केरोसिन डालकर अंदर आई और आत्मदाह की कोशिश की.

आरोपियों के परिजन भी एसएसपी ऑफिस पहुंचे और महिला के कुछ ऑडियो फुटेज एसएसपी को दिए. उसमें महिला दो दिन पहले आरोपियों से पैसों की मांग करते और रकम ना मिलने पर आत्मदाह करने की चेतावनी देते नजर आ रही है. एसएसपी अखिलेश कुमार का कहना है कि महिला के आरोपों की अभी पुष्टि नहीं हुई है. एसएसपी ने कहा कि मामले की जांच भावनपुर थाने से महिला थाने को स्थानांतरित कर दी गई है. साथ ही आत्महत्या की कोशिश करने के आरोप में महिला के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है.