नई दिल्ली: यूपी पुलिस की गाड़ी में महिला कॉन्स्टेबल द्वारा थप्पड़ और गाली की शिकार मेडिकल कॉलेज की छात्रा ने मीडिया से बातचीत में पुलिस पर कई तरह के आरोप लगाए हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में लड़की ने बताया कि मैं अपने दोस्त के साथ बैठ कर पढ़ाई कर रही थी, उसी समय बजरंग दल के कार्यकर्ता आए औ मुझे एक रूम में बंद कर दिया और मेरे दोस्त को पीटा. उन्होंने मुझ से मेरी आईडी मांगी और टोन्ड किया कि तुम इससे शादी कैसे कर सकती हो, वह मुस्लिम है और तुम हिन्दू. छात्रा का कहना है कि हमने उन्हें बताया कि जैसा आप सोच रहे हैं वैसा कुछ नहीं है.

घटना के कुछ समय बाद पुलिस मौके पर पहुंची और हम दोनों को अलग-अलग गाड़ियों में बैठाया. उन्होंने मेरे साथ बदतमीजी की. पुलिस स्टेशन में महिला ने मुझे से युवक के खिलाफ रेप का केस दर्ज कराने के लिए कहा. मैंने और मेरे परिवार ने इससे इनकार कर दिया. मेरठ के एसपी का कहना है कि मुस्लिम युवक के साथ दिखाई देने के बाद पुलिस द्वारा छात्रा के साथ मारपीट और अभद्रता का वीडियो सामने आने के बाद तीन पुलिस वालों को सस्पेंड कर दिया गया है. विभागीय कार्रवाई के आदेश दे दिए गए हैं. वीडियो की जांच की जा रही है. जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी.

यह है मामला
यूपी के हापुड़ जिले की रहने वाली युवती मेरठ में मेडिकल की पढ़ाई कर रही है. उसके साथ पढ़ने वाला युवक दूसरे समुदाय का है, जो कि मेरठ के एक मोहल्‍ले में रहता है. बीते रविवार को छात्रा अपने साथ पढ़ने वाले युवक के घर पर गई थी. इसी बीच स्‍थानीय लोगों ने बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को बुला लिया था. आरोप था कि कार्यकर्ताओं ने छात्र और छात्रा पर आरोप लगाकर उनकी पिटाई कर दी. वहीं, छात्रा का दावा था कि वह साथ पढ़ने वाले युवक से लैपटॉप लेने आई थी. मौके पर पहुंची यूपी 100 पुलिस छात्रा को अपनी गाड़ी बिठा लिया और अभद्रता की.