नई दिल्ली: दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल पर कटाक्ष करते हुए कहा कि लोग त्योहारों पर दुश्मनी भुला देते हैं और उन्होंने ईद के मौके पर आप के धरनारत मंत्रियों को बातचीत करने के लिए आमंत्रित करने का आग्रह किया. सिसोदिया ने एक ट्वीट में बैजल को ईद की बधाई दी और कहा, “हम राजभवन में पिछले पांच दिनों से बैठे हुए हैं. ईद मिलन के मौके पर तो हमें मिलने के लिए बुलाइए. सिसोदिया ने कहा, मैं चार दिनों से उपवास पर हूं. होली, दिवाली और ईद के मौके पर लोग अपने दुश्मनों को भी बधाई देते हैं.बैजल ने इसके पहले दिल्ली की जनता को बधाई दी और कहा कि यह त्योहार भाईचारगी को मजबूत करता है और सांप्रदायिक सद्भाव, एकता और शांति के संबंधों को गहरा बनाता है.

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया कि आईएएस अधिकारियों की हड़ताल के चलते दिल्ली में एक तरह से राष्ट्रपति शासन लगा हुआ है. केजरीवाल और उनके तीन मंत्रियों का उप राज्यपाल कार्यालय राजनिवास में धरना शनिवार को छठे दिन भी जारी रहा. आप नेता उप राज्यपाल से आईएएस अधिकारियों को हड़ताल खत्म करने का आदेश देने की मांग कर रहे हैं.

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और विकास, श्रम एवं रोजगार मंत्री गोपाल राय केजरीवाल के साथ सोमवार शाम से उप राज्यपाल के कार्यालय में धरना दिए हुए हैं. जैन और सिसोदिया क्रमश : मंगलवार और बुधवार से भूख हड़ताल पर हैं. केजरीवाल ने ट्वीट किया आईएएस अधिकारियों की हड़ताल के माध्यम से दिल्ली में एक तरह से राष्ट्रपति शासन लगा हुआ है.

केजरीवाल ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूछा था कि क्या वह अपने अधिकारियों के बैठक में शामिल ना होने पर काम कर सकते हैं. उन्होंने आईएएस अधिकारियों की कथित हड़ताल के मामले पर प्रधानमंत्री पर निशाना साधा और उन्हें अपने अधिकारियों के बिना काम करने की चुनौती दी. उन्होंने कहा कि क्या प्रधानमंत्री एक दिन भी अधिकारियों के बगैर काम कर सकते हैं.