नई दिल्ली. एनडीए उम्मीदवार राम नाथ कोविंद देश के अगले राष्ट्रपति होंगे. राष्ट्रपति चुनाव में रामनाथ कोविंद को 65.66 फीसदी वोट मिले हैं. उन्हें कुल 7,02,044 वोट मिले. विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार को 34.35 फीसदी वोट मिले. उनके पक्ष में 3,67,314 वोट पड़े. चार राज्यों असम, अरुणाचल प्रदेश, आंध्र प्रदेश और बिहार में कोविंद को 60683 मूल्य के वोट मिले जबकि मीरा कुमार को मिले वोटों का मूल्य 22941 है. इसके अलावा अधिकतर राज्यों में कोविंद ही भारी पड़े.

दो राज्य ऐसे रहे जहां के वोटिंग आंकड़े ने सबका ध्यान खींचा. मीरा कुमार और रामनाथ कोविंद को यहां से बेहद कम समर्थन आया. आंध्र प्रदेश में मीरा कुमार को एक भी वोट नहीं मिला वहीं वाम मोर्चा वाली सरकार केरल से कोविंद को महज एक ही वोट मिला.

आंध्र में मीरा कुमार को शून्य वोट जबकि कोविंद को 171 वोट मिले. इसी तरह केरल में मीरा कुमार को 138 जबकि कोविंद को महज एक वोट मिला. आंध्र में टीडीपी की सरकार है जो एनडीए में शामिल है. जबकि केरल में लेफ्ट की सरकार है.

रामनाथ कोविंद को 522 सांसदों के वोट मिले जबकि मीरा कुमार को 229 सांसदों के वोट मिले. 21 सांसदों के वोट खारिज किए गए हैं. 16 विधायकों के वोट भी रद्द हुए हैं. गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान गत 17 जुलाई को हुआ था. मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है.
कोविंद ने करीब 31 प्रतिशत मतों के अंतर से मीरा कुमार को पराजित किया. 71 वर्षीय कोविंद दूसरे दलित नेता हैं जो इस शीर्ष संवैधानिक पद को सुशोभित करेंगे. कोविंद को 2930 मत प्राप्त हुए जिसका मूल्य 7,02,044 मत है. उनसे पूर्व के. आर नारायणन दलित समुदाय से देश के पहले राष्ट्रपति निर्वाचित हुए थे. कोविंद भाजपा के पहले सदस्य हैं जो राष्ट्रपति निर्वाचित हुए हैं.