नई दिल्ली: मौसम विभाग ने केरल में सामान्य से अत्यधिक बारिश होने के बारे में पहले से आगाह नहीं करने के राज्य सरकार के आरोप को खारिज करते हुये कहा है कि इस बारे में अगस्त के पहले सप्ताह से ही पूर्व चेतावनी जारी कर दी गयी थी. विभाग ने शनिवार को जारी बयान में कहा कि केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन सहित राज्य सरकार के आला अधिकारियों के साथ समय-समय पर हुई बैठकों में लगातार स्थिति से अवगत कराया जाता रहा है. उल्लेखनीय है कि हाल ही में विजयन ने राज्य में बाढ़ की आपादा के बारे में मौसम विभाग द्वारा पहले से सटीक जानकारी नहीं देने का केरल विधानसभा में आरोप लगाया था.

विभाग ने कहा कि तिरुवनंतपुरम स्थित मौसम विभाग के कार्यालय ने अगस्त माह के शुरू में ही विभिन्न माध्यमों से प्रतिदिन चेतावनी देना शुरू कर दिया था. इनमें मौसम विभाग की वेबसाइट, एसएमएस और ईमेल के अलावा नाउकास्ट प्रणाली से केरल के प्रत्येक जिले के लिये अगले तीन घंटों की मौसम की जानकारी से राज्य सरकार के संबद्ध अधिकारियों को लगातार अवगत कराया गया.

केरल बाढ़: सेना के जज्बे को सलाम, पहली मंजिल पर फंसे दिव्यांग को ऐसे बचाया, VIDEO वायरल

विभाग ने स्पष्ट किया कि नौ अगस्त को राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा बुलाई गई उच्च स्तरीय बैठक में भी केरल में जबरदस्त मानसून और इस कारण होने वाली मूसलाधार बारिश की स्थिति का विस्तार से उल्लेख किया गया था. इतना ही नहीं, राज्य के मुख्य सचिव और अतिरिक्त मुख्य सचिव (राजस्व एवं आपदा प्रबंधन) को इस बारे में विभाग द्वारा टेलीफोन पर मौखिक रूप से समय-समय पर बारिश के पूर्वानुमान की जानकारी दी गयी.

केरल बाढ़: पानी कम हुआ तो ‘सहायता’ पर शुरू हुई राजनीति, विदेशी मदद पर उलझीं सत्तारूढ़ और विपक्षी पार्टियां

विभाग ने कहा कि इसके पहले राज्य के जिलाधिकारियों को भी ‘डॉप्लर वेदर राडार डाटा’ के माध्यम से लगातार जानकारी दी गयी. इस दौरान राज्य के मुख्य सचिव, अतिरिक्त मुख्य सचिव (राजस्व एवं आपदा प्रबंधन), राज्य आपदा प्रबंधन और नौसेना के अधिकारियों को ईमेल के जरिये मौसम संबंधी सभी प्रकार की चेतावनियों से अवगत कराया गया. इसमें प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से भी मौसम विभाग ने आवश्यक जानकारी दी थी.

केरल बाढ़: जल स्तर घटने के साथ सफाई का मुश्किल काम शुरू, सीएम ने लिया राहत शिविरों का जायजा

विभाग ने कहा कि 10 अगस्त को राज्य आपदा प्रबंधन के सदस्य सचिव को और 14 अगस्त को कोवलम एवं तिरुवनंतपुरम के जिलाधिकारी को मूसलाधार बारिश के पूर्वानुमान से अवगत कराया गया था.

केरल बाढ़: UAE से मिल रहे पैसे पर मोदी के मंत्री ने अब कहा- एक बार विदेशी मदद स्वीकारें

इससे पहले दो अगस्त को दिल्ली स्थित मौसम विभाग के मुख्यालय से राज्य में अगले दो सप्ताह के मौसम के अनुमान की जानकारी देते हुये दक्षिण प्रायद्वीपीय इलाकों में नौ से 15 अगस्त के बीच मूसलाधार बारिश होने की आशंका जतायी गयी थी. यह जानकारी केरल सहित सभी संबद्ध राज्यों के मुख्य सचिवों को अलग से भी ई मेल के जरिये भेजी गयी थी. साथ ही राज्य के इडुक्की में 14 अगस्त से होने वाली भारी बारिश का रेड अलर्ट 12 अगस्त को ही जारी कर दिया गया था.