नई दिल्ली: #MeToo अभियान जो अब एक क्रांति का रूप अख्तियार करता जा रहा है. अमेरिका से शुरू हुई ये कैम्पेन भारत में भी रंग ला रही है. देश में ‘मी टू’ अभियान शुरू होने के बाद कार्यस्थलों पर यौन शोषण की शिकायतों की संख्या बढ़ने के मद्देनजर राष्ट्रीय महिला आयोग ने इस मुद्दे को संजीदगी से लेते हुए इन मामलों की शिकायत करने के लिए एक अलग ई-मेल आईडी बनाई है.

#MeToo का पहला राजनीतिक शिकार बने एम जे अकबर, राष्‍ट्रपति ने इस्‍तीफा मंजूर किया

महिला आयोग में दर्ज करें शिकायत
आयोग ने एक बयान में कहा कि पिछले कुछ दिनों में इस तरह के मामलों की शिकायतों में तेजी आई है, इसको देखते हुए अलग ईमल आईडी बनाई गई. कार्यस्थल पर यौनशोषण की पीड़ित महिलाएं अब ncw.metoo@Gmail.com (एनसीडब्ल्यू डॉट मी टू @जीमेल डॉट कॉम) पर शिकायत कर सकती हैं. यौन उत्पीड़न के आरोपियों में पूर्व विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर, फिल्म निर्देशक सुभाष घई, साजिद खान, रजत कपूर और अभिनेता आलोक नाथ, विनोद दुआ समेत कई नामचीन नाम शामिल हैं. काफी विरोध व हंगामे के बाद विदेश राज्यमंत्री एम जे अकबर ने बुधवार को मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है.

हाल ही में #MeToo अभियान के तहत विभिन्न क्षेत्रों में प्रतिष्ठित कई महिलाओं ने अपने साथ हुई यौन उत्पीड़न की घटनाओं को सोशल मीडिया के प्लेटफोर्म पर साझा किया. इसी अभियान के तहत कई फिल्मी हस्तियों और पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर के खिलाफ भी आरोप लगे. अकबर के इस्तीफे को महिलाओं ने अपनी जीत बताया है. (इनपुट एजेंसी)

#MeToo: पिता विनोद दुआ पर लगे यौन शोषण के आरोपों पर मल्लिका ने कहा, यह मेरी लड़ाई नहीं है