नई दिल्ली: देश भर में चल रहे #MeToo अभियान को लेकर केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने बृहस्पतिवार को कहा कि सभी राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय दल अपने यहां यौन उत्पीड़न के मामलों को देखने के लिए आंतरिक शिकायत समिति (आईसीसी) का गठन करें. ये अभियान धीरे-धीरे क्रांति का रूप अख्तियार करता जा रहा है. Also Read - सोना मोहपात्रा की मोनोकनी वाली तस्वीरों पर लोगों ने कहा- भड़काऊ कपड़े पहनों और फिर #MeToo के लिए चिल्लाओ

Also Read - #Metoo में फसें अनु मालिक की जगह अब ये सिंगर करेंगे इंडियन आइडल 11 को जज  

#MeToo: उत्पीड़न पर संजीदा हुआ महिला आयोग, अब इस e-mail आईडी पर करें शिकायत ! Also Read - #Metoo:सोना महापात्रा की स्मृति ईरानी से शिकायत के बाद, इंडियन आइडल से निकाले गए अनु मलिक!

मेनका ने ट्वीट कर कहा, ‘मैंने सभी मान्यताप्राप्त राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय दलों के अध्यक्षों/प्रभारियों से आग्रह किया है कि वे अपने यहां आंतरिक शिकायत समिति का गठन करें क्योंकि कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न विरोधी कानून के तहत यह अनिवार्य है.’

उन्होंने कहा, ‘यह तथ्यपरक बात है कि राजनीतिक पार्टियां अपने कार्यालयों में बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार देती हैं जिनमें महिलाएं भी होती हैं. यह हमारा कर्तव्य है कि हम महिलाओं के लिए कामकाज का सुरक्षित माहौल सुनिश्चित करें.’

हाल ही में ‘मी टू’ अभियान के तहत विभिन्न क्षेत्रों में प्रतिष्ठित कई महिलाओं ने अपने साथ यौन उत्पीड़न की घटनाओं को साझा किया. इसी अभियान के तहत कई फिल्मी हस्तियों और पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर के खिलाफ भी आरोप लगे. अकबर ने कल विदेश राज्य मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. (इनपुट एजेंसी)

#MeToo कोंकणा, जोया समेत कई महिला निर्देशकों का फैसला, दोषसिद्ध लोगों के साथ नहीं करेंगी काम