नई दिल्ली। इंडिगो एयरलाइंस एक बार फिर चर्चा में है. खबर है कि मंगलवार को इंडिगो के दो विमान बेंगलुरू के ऊपर अचानक आमने-सामने आ गए थे जिससे करीब 330 यात्री सवार थे. अलार्म सिस्टम बजने से हादला टल गया और सभी यात्री बाल-बाल बचे. इस तरह ये बड़ा हादसा होने से टल गया. अधिकारियों ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं.

किसी तरह टल गए इस हादसे में कोयंबटूर-हैदराबाद और बेंगलुरू-कोचीन विमान शामिल थे बेंगलुरू के ऊपर उड़ान भर रहे थे. इंडिगो के प्रवक्ता ने इसकी पुष्टि भी की है. हैदराबाद वाले विमान में 162 यात्री जबकि बेंगलुरू वाले विमान में 166 यात्री थे.

सूत्रों ने पीटीआई को बताया कि दोनों विमानों के बीच फासला 200 फीट का ही रह गया था तभी टीसीएएस यानि ट्रैफिक कॉलिजन अवॉइडेंस सिस्टम काअलार्म बजने से हादसे को टाला जा सका. सूत्रों ने बताया कि एयरक्राफ्ट एक्सीडेंट एडवाइजरी सिस्टम ने इस संबंध में जांच शुरू कर दी है.

इंडिगो के प्रवक्ता ने अपने बयान में कहा कि दो विमानों के एक दूसरे के सामने आने पर टीसीएएस रिजोल्यूशन एडवाइजरी सिस्टम ने अलार्म बजाया था. इसकी जानकारी रेगुलेटर को दे दी गई थी. डायरेक्टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन डीजीसीए ही एविएशन रेगुलेटर है. अब इस मामले की विस्तार से जांच की जा रही है.