श्रीनगर: वह इंजीनियरिंग कर चुका था, गेट परीक्षा भी पास कर चुका था और कश्मीर प्रशासनिक सेवाओं की तैयारी कर रहा था, लेकिन जाने कैसे उसका दिमाग फिरा कि वह आतंकवाद की राह पर चल पड़ा. आतंकवादी बने उसे 48 घंटे भी नहीं हुए थे कि वह सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया. घटना के चार दिन बाद जम्मू कश्मीर पुलिस ने उपनिरीक्षक पद के लिए शॉर्ट लिस्टेड़ उम्मीदवारों की सूची जारी की जिसमें उसका भी नाम है लेकिन दुर्भाग्य से वह अपनी कामयाबी का जश्न मनाने के लिए जिंदा नहीं है. Also Read - पाकिस्तान ने आंतकियों को दी खुली छूट, हाफिज सईद से कहा- कश्मीर में भेजो दहशतगर्द

Also Read - ट्विटर ने जम्मू-कश्मीर को बताया चीन का हिस्सा, भड़के लोगों ने रविशंकर प्रसाद से की कार्रवाई की मांग

शेल्टर होम रेप केस: ब्रजेश ठाकुर ने कहा-कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ना चाहता था, इसलिए मुझे फंसा दिया Also Read - जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में मुठभेड़, सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया

जम्मू कश्मीर पुलिस ने कल 2,060 चयनित उम्मीदवारों की सूची जारी की जिसमें 1913 क्रमांक वाले खुर्शीद अहमद मलिक का नाम शामिल है. वह पुलवामा जिले के अराबल गांव का निवासी था. इन उम्मीदवारों को उप निरीक्षक पद पर नियुक्ति की खातिर साक्षात्कार के लिए बुलाया गया है. मलिक ने बीटेक किया था और उसने इस वर्ष जून में लिखित परीक्षा दी थी.

चिकित्सक की हत्या मामले में पिता और दो बेटों को उम्र कैद, कोर्ट ने भारी भरकम जुर्माना भी लगाया

उसे आतंकवाद की राह थामे 48 घंटे ही हुए थे कि तीन अगस्त को बारामुला जिले में सोपोर के द्रूसू क्षेत्र में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया. मलिक ने हाल ही में श्री माता वैष्णो देवी विश्वविद्यालय से बीटेक किया था. साथ ही गेट की परीक्षा भी पास की थी. पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि मलिक कश्मीर प्रशासनिक सेवाओं की तैयारी कर रहा था और कंबाइंड कॉम्पिटीटिव एक्जाम के लिए अप्लाई करने गया था और उसके बाद वह लापता हो गया. लापता होने के 48 घंटे के बाद वह मुठभेड़ में मारा गया. उसके परिजन ने उससे लौट आने और बाद में आत्मसमर्पण करने की अपील की थी.

स्‍कूल बस में कक्षा 4 के बच्‍चे का प्राइवेट पार्ट टच करते थे सीनियर, शिकायत पर टीचर बोलती- तुम हो ही क्‍यूट

गौरतलब है कि तीन अगस्त को जम्मू कश्मीर के बारामूला और शोपियां जिलों में दो अलग अलग मुठभेड़ों में तीन आतंकवादी मारे गए थे. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने पर बारामूला जिले के राफियाबाद के दुरसू गांव में तलाशी अभियान के दौरान घेरा डाला. इस बीच आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी की जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हुई. मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए जिनकी पहचान रियाज अहमद डार और खुर्शीद अहमद मलिक के रूप में हुई है. मारे गये आतंकवादी लश्कर ए तैयबा से जुड़े थे