नई दिल्ली: भारत के महान फर्राटा धावक मिल्खा सिंह की बेटी अपने परिवार और देश के गौरव को बढ़ा रहीं हैं. वह अमेरिका में कोरोना महामारी के खिलाफ ऐसी जगह काम कर रही हैं, जहां सबसे ज्‍यादा मौतें हो रहीं हैं. बता दें कि अमेरिका में 40 हजार से ज्‍यादा कोरोना वायरस के संक्रमण से मौत हो चुकी है. Also Read - कोरोना वायरस से हुई पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर की मौत, परिवार ने आनन-फानन में दफनाया

महान फर्राटा धावक मिल्खा सिंह और मशहूर गोल्फर जीव मिल्खा सिंह की बड़ी बहन इन दिनों न्यूयार्क के एक अस्पताल में कोराना वायरस पीड़ितों के इलाज में जुटी हुई हैं. Also Read - 15 दिन में एक लाख से अधिक लोग हुए कोरोना संक्रमित, बिगड़ सकती है स्थिति

मोना मिल्खा सिंह न्यूयार्क के मेट्रोपोलिटन हॉस्पिटल सेंटर में डॉक्टर है. वह कोरोना के आपात मरीजों का इलाज कर रही है. अमेरिका में अभी तक इस महामारी से 40000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. Also Read - पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिक 'अच्छी-खासी संख्या' में आए, भारत पीछे नहीं हटेगा: राजनाथ सिंह

चार बार के यूरोपीय टूर चैम्पियन जीव ने कहा, ”वह न्यूयार्क के मेट्रोपोलिटन अस्पताल में इमरजेंसी रूम डॉक्टर है, जब भी कोरोना के लक्षण वाला कोई मरीज आता है तो उसे इलाज करना होता है.”

गोल्फर जीव मिल्खा सिंह ने कहा, ”वह पहले मरीज की जांच करती हैं, जिसके बाद उन्हें पृथकवास के लिए विशेष वार्ड में भेजा जाता है. 54 वर्ष की मोना ने पटियाला से एमबीबीएस किया और नब्बे के दशक में अमेरिका में बस गई.