इंदौर: कर्ज के भारी बोझ से दबी सरकारी एयरलाइन एयर इंडिया की विनिवेश प्रक्रिया की मौजूदा स्थिति पर नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने शुक्रवार को यह कहते हुए टिप्पणी से इनकार कर दिया कि यह गोपनीय मामला है. Also Read - Mann ki baat: गांव आत्मनिर्भर होते तो ये हालात न होते, अब अर्थव्यवस्था बढ़ रही है, जानें पीएम मोदी की 15 अहम बातें

Also Read - Mann Ki Baat Live Updates: 'मन की बात' शुरू, पीएम मोदी कर रहे हैं सम्बोधित

एयर इंडिया की 76 प्रतिशत सरकारी हिस्सेदारी बेचे जाने की खबरों की पृष्ठभूमि में मीडिया ने यहां एक कार्यक्रम में सिन्हा से इस प्रक्रिया की मौजूदा स्थिति के बारे में पूछा. इस पर सिन्हा ने कहा कि यह (एयर इंडिया का प्रस्तावित विनिवेश) एक गोपनीय प्रक्रिया है. मैं इस विषय में टिप्पणी नहीं कर सकता. हमने इस प्रक्रिया को लेकर एक लेन-देन सलाहकार एजेंसी (अर्नेस्ट एंड यंग एलएलपी इंडिया) को जिम्मेदारी सौंपी है. सिन्हा ने एक सवाल पर बताया कि विमान ईंधन एटीएफ को माल और सेवा कर (जीएसटी) के दायरे में लाने पर चर्चा जारी है. Also Read - Mann Ki Baat : कोविड-19 की लड़ाई को कमजोर नहीं होने दे सकते, जरूरी न हो तो घर से बाहर न निकलें

एयर इंडिया को UPA ने बना दिया था भिखारी, मोदी सरकार बनाएगी महाराजा: जयंत सिन्हा

एटीएफ को जीएसटी के दायरे में लाया जाना चाहिए

उन्होंने कहा कि हम वित्त मंत्री और जीएसटी परिषद से कई बार गुजारिश कर चुके हैं कि एटीएफ को जीएसटी के दायरे में लाया जाना चाहिये. इस बारे में विचार-विमर्श किया जा रहा है कि एटीएफ को इस नयी कर प्रणाली के तहत किस तरह लाया जा सकता है. सिन्हा ने कहा कि एटीएफ को जीएसटी के दायरे में लाने पर एयरलाइनों और सभी संबंधित पक्षों ने काफी बारीकी से विश्लेषण किया है. हमने इस विश्लेषण को वित्त मंत्री और जीएसटी परिषद को भेज दिया है. देखिये, आगे क्या होता है. उन्होंने यह भी बताया कि देश के नागरिक उड्डयन क्षेत्र की बेहतरी के लिये “यात्री चार्टर” तैयार किया जा रहा है. इसकी जल्द ही घोषणा की जायेगी.

इंदौर हवाई अड्डे के विस्तार को जल्द जमीन मिलने की उम्मीद

सिन्हा ने कहा कि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) को इंदौर के देवी अहिल्याबाई होलकर हवाई अड्डे के विस्तार के लिए प्रदेश सरकार से करीब 21 एकड़ जमीन जल्द मिलने की उम्मीद है. एएआई की इस जमीन पर यात्रियों के लिये होटल और अत्याधुनिक पार्किंग विकसित कराने के साथ हवाई अड्डे के सौंदर्यीकरण की योजना है. मीडिया से बातचीत से पहले, नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री शहर के विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-एक में भाजपा की आयोजित “विकास यात्रा” में शामिल हुए. इस दौरान उन्होंने विपक्षी दलों के नेताओं पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि वे “विनाश की राजनीति” कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि ये लोग (विपक्षी नेता) परिवारवाद, क्षेत्रवाद और जातिवाद के नाम पर जनता से वोट मांगकर विनाश की राजनीति कर रहे हैं, जबकि भाजपा विकास की राजनीति में यकीन रखती है. यही वजह है कि हर राज्य के विधानसभा चुनाव में भाजपा को जनता का शानदार समर्थन मिल रहा है. (इनपुट एजेंसी)