नयी दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों को पृथक रखने के लिए सात और केंद्रों की स्थापना की है और इनमें खासतौर पर कोरोना वायरस से प्रभावित देशों से आ रहे भारतीयों को रखा जाएगा. अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि ये केंद्र जैसलमेर, सूरतगढ़, झांसी, जोधपुर, देवलाली (नासिक, महाराष्ट्र), कोलकाता और चेन्नई में स्थापित किए गए हैं. Also Read - दिल्ली सरकार ने उठाया कदम, अब कोरोना के मरीज़ों के काम आएगा जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम

  Also Read - कोरोना वायरस: फ्रांस में एक दिन में हुई 418 लोगों की मौत, कुल आंकड़ा पहुंचा 3 हज़ार के पार 

सेना के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद ने कहा कि हम उम्मीद कर रहे हैं कि और नागरिकों को भारत लाया जाएगा. हम अपने सुविधा केंद्रों के साथ तैयार हैं. उल्लेखनीय है कि भारतीय सेना पहले ही हरियाणा के मानेसर में पृथक केंद्र का संचालन कर रही है. इसको चलाने के लिए प्रति दिन लगभग 3.5 लाख रुपये खर्च कर रही है. भारतीय सेना ने सुविधा को चलाने के लिए 60 कर्मियों को प्रतिबद्ध किया है. साथ ही भारतीय वायुसेना द्वारा गाजियाबाद के हिंडन में पृथक केंद्र स्थापित किया गया है.

कोरोना वायरस: ईरान में मृतक संख्या बढ़कर 429 हुई, 10,000 से अधिक लोग संक्रमित
ईरान में कोरोना वायरस के कारण 75 और लोगों की मौत होने से इस बीमारी की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़कर 429 हो गई है और 10,000 से अधिक लोग इससे संक्रमित हैं. ईरान ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. देश में पिछले माह इस बीमारी से पहली मौत की घोषणा के बाद पिछले तीन हफ्तों में यह किसी एक दिन में हुईं सर्वाधिक मौते हैं.