नई दिल्ली: पूर्वोत्तर दिल्ली के न्यू उस्मानपुर में 42 वर्षीय एक व्यक्ति ने जश्न में गोली चलाई जो उसके ही नाबालिग बच्चे को जा लगी और उसकी मौत हो गई. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने यह जानकारी देते हुए शनिवार को बताया कि आरोपी की पहचान यासीन के तौर पर हुई है. जनता दल यूनाइडेट (जदयू) के पूर्व विधायक राजू सिंह द्वारा नववर्ष की पूर्व संध्या पर फतेहपुर स्थित एक फॉर्म हाउस में जश्न में की गई हवाई गोलीबारी में एक महिला की मौत होने के कुछ दिनों बाद यह घटना सामने आई है.

पुलिस ने बताया कि 31 दिसम्बर को न्यू उस्मानपुर थाने में एक व्यक्ति को गोली लगने की घटना की जानकारी मिली थी. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जश्न में की गई गोलीबारी में आठ साल के बच्चे रेहान के दाहिने गाल पर गोली लग गई थी. अधिकारी ने बताया कि बच्चे को तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत लाया घोषित कर दिया. उन्होंने बताया कि इसके बाद मामला दर्ज किया गया.

पुलिस उपायुक्त (पूर्वोत्तर) अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि गोली मृतक के पिता यासीन ने चलाई थी. शनिवार को यासीन को गिरफ्तार कर लिया गया. अधिकारी ने बताया कि आरोपी ने बाद में गुनाह स्वीकार कर लिया और बताया कि उसने उत्तर प्रदेश के लोनी के निवासी रवि कश्यप (21) से बंदूक खरीदी थी. उसने जश्न में हवा में गोली चलाई थी लेकिन दुर्घटनावश गोली वहां मौजूद उसके बेटे को लग गई. पुलिस ने बताया कि कश्यप को भी गिरफ्तार कर लिया गया है और हथियार भी बरामद हो गया है.

गौरतलब है कि दिल्ली की एक अदालत ने जदयू के पूर्व विधायक राजू सिंह के फार्म हाउस पर नववर्ष के जश्न के दौरान हर्ष फायरिंग में एक महिला की मौत के संबंध में सिंह की पत्नी को शुक्रवार को दो सप्ताह की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट सलोनी सिंह ने नेता की पत्नी रेनू सिंह और नेता के लिए काम करने वाले रमिंदर सिंह को कथित रूप से साक्ष्य मिटाने के लिए 14 दिन की हिरासत में भेजा. राजू सिंह द्वारा कथित रूप से चलाई गई गोली अर्चना गुप्ता को जाकर लगी थी और उनकी गुरुवार को मौत हो गई थी.