महाराष्ट्र: एनसीपी के लापता विधायक दौलत दरोडा वापस आ गए हैं. उन्होंने कहा कि मैं सुरक्षित हूं. मैं एनसीपी के टिकट पर (घड़ी का प्रतीक) चुनाव जीतने के बाद आया हूं, इसलिए पार्टी बदलने का कोई सवाल ही नहीं है. शरद पवार और अजीत पवार जो भी फैसला लेते हैं, मैं उनके साथ हूं. किसी भी अफवाहों पर विश्वास न करें.

महाराष्ट्र सरकार मामला: सुप्रीम कोर्ट ने देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार को जारी किया नोटिस, कल फिर होगी सुनवाई

इससे पहले शाहपुर के विधायक दौलत दरोडा के परिवार ने पुलिस में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी. दरोडा शनिवार को शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए राजभवन पहुंचने के बाद से ही लापता थे. राकांपा के प्रवक्ता नवाब ने कहा कि रविवार सुबह तक पांच विधायकों- दौलत दरोडा, नितिन पवार (कलवन), नरहरी झिरवाल (डिंडोरी), बाबासाहेब पाटिल (अहमदपुर), अनिल पाटिल (अमलनेर) के लापता होने की सूचना थी.

महाराष्ट्र में पल पल बदल रहे हैं राजनीतिक हालात, सुप्रीम कोर्ट में थोड़ी देर में शुरू होगी सुनवाई

बता दें कि राकांपा नेता अजित पवार तथा पार्टी के कुछ और विधायकों की मदद से महाराष्ट्र में शनिवार को भाजपा की सत्ता में वापसी के बाद अनिल पाटिल और दौलत दरोडा सहित राकांपा के कुछ विधायक ‘लापता’ हो गए थे. राकांपा के प्रवक्ता नवाब मलिक ने रविवार को अनिल पाटिल के ट्वीट को टैग करते हुए ट्वीट किया, जिसमें कहा गया कि वह (पाटिल) राकांपा का हिस्सा बने रहेंगे और उन्होंने शरद पवार के नेतृत्व में विश्वास व्यक्त किया.

संघ विचारक ने की भविष्यवाणी, 2022 में शरद पवार हो सकते NDA से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार

पाटिल ने ट्वीट में कहा कि वह राजभवन गए थे क्योंकि अजित पवार विधायक दल के नेता थे. पाटिल ने ट्वीट में कहा कि मुझे इस बारे में जानकारी नहीं थी कि राजभवन में क्या होने वाला है. मैं शरद पवार के साथ हूं. मलिक ने कहा कि यह पाटिल की पार्टी में वापसी का संकेत है.