नई दिल्लीः पूर्व क्रिकेटर और भाजपा सांसद गौतम गंभीर पिछले कई दिनों से आलोचनाओं का शिकार हो रहे हैं. अब एक नया वाकया सामने आया है जिसमें दिल्ली के कई स्थानों पर गौतम गंभीर के लापता होने के पम्पलेट लगाए गए हैं. इनमें लिखा है कि क्या आपने इन्हें देखा है? पूरी दिल्ली इन्हें ढूंढ रही है. दिल्ली में लगाए गए यह पम्पलेट सोशल मीडिया में काफी वायरल हो रहे हैं.

इससे पहले एक फोटो सोशल मीडिया में वायरल हुई थी जिसमें गौतम गंभीर को जलेबी खाते देखा गया था. इसके बाद यह सोशल मीडिया में काफी वायरल हुई और इसको लेकर विपक्षी पार्टियों ने उन पर निशाना भी साधा. यह पोस्टर पेड़ों पर लगे हैं और इन पर गंभीर की फोटो लगी है. पोस्टर में लिखा है, लापता, क्या आपने इन्हें कहीं देखा है. आखिरी बार इंदौर में जलेबी खाते हुए देखे गए थे, पूरी दिल्ली इन्हें ढूंढ रही है.

दरअसल यह पूरा मुद्दा तब शुरू हुआ जब संसदीय समिति ने दिल्ली में प्रदूषण के खराब हालात को देखते हुए शुक्रवार को बैठक बुलाई थी. शहरी विकास मंत्रालय से संबंधित इस मीटिंग में कई सांसद और तीनों नगर निगमों (MCD) के मुखिया ही नहीं पहुंचे. इसी बीच, भारत-बांग्लादेश टेस्ट क्रिकेट मैच में कमेंट्री करने पहुंचे गौतम गंभीर की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई, जिसमें वह अपने साथियों वीवीएस लक्ष्मण और जतिन सप्रू के साथ इंदौरी पोहे-जलेबी चखते हुए नजर आ रहे थे. बस इसके बाद विपक्षी पार्टियां उन पर तंज कसने लगीं.

इसके बाद पूर्व क्रिकेट ने इस पूरे मामले में अपनी सफाई देते हुए लिखा कि मेरा काम खुद बोलेगा. अगर मुझे गाली देने से दिल्ली का प्रदूषण कम हो रहा है तो APP का जितना मन करे मुझे गाली दे. गंभीर के सफाई देने के बाद भी विवाद है कि कम होने का नाम नहीं ले रहा है.

आज सुबह से ही गंभीर के लापता होने की फोटो वायरल हो रही हैं. लोग इस पर कई तरह के कमेंट्स भी कर रहे हैं. कुछ लोगों का कहना है कि नेता सिर्फ चुनाव के समय ही जनता के पास नजर आते हैं इसके बाद जनता की समस्याओं से उन्हें कोई लेना देना नहीं होता.