हैदराबादः भारतीय अंतरित्र अनुसंधान संगठन (इसरो) के पूर्व अध्यक्ष के कस्तूरीरंगन ने कहा है कि उन्हें गर्व हो रहा है कि देश ने उपग्रह रोधी मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण कर लिया है और यह अंतरिक्ष में एक बेहद महत्वपूर्ण कदम है. उन्होंने बुधवार को बताया कि मैं सिर्फ यह कह सकता हूं कि यह अत्यंत, अत्यंत महत्वपूर्ण घटना है.

कस्तूरीरंगन ने कहा, ‘और हम सभी को इस बात पर गर्व है कि हमने अंतरिक्ष में अगला महत्वपूर्ण, जरूरी और संभवत: बहुत कठिन कदम सफलतापूर्वक बढ़ाया है.’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संदेश में कहा, ‘मिशन शक्ति के तहत भारत ने स्वदेशी एंटी सैटेलाइट मिसाइल ‘ए..सैट’ से तीन मिनट में एक लाइव सैटेलाइट को सफलतापूर्वक मार गिराया.’

उन्होंने बाद में ट्वीट किया ‘मिशन शक्ति की सफलता के लिए हर किसी को बधाई.’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हमारे वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष में 300 किमी दूर पृथ्वी की निचली कक्षा (एलईओ) में एक लाइव सैटेलाइट को मार गिराया है. यह लाइव सैटेलाइट एक पूर्व निर्धारित लक्ष्य था, जिसे एंटी सैटेलाइट मिसाइल द्वारा मार गिराया गया है. यह अभियान तीन मिनट में सफलतापूर्वक पूरा किया गया है.’ इस अभियान से जुड़े वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत अंतरिक्ष में निचली कक्षा में लाइव सैटेलाइट को मार गिराने की क्षमता रखने वाला चौथा देश बन गया है. अब तक यह क्षमता अमेरिका, रूस और चीन के ही पास थी.

(इनपुट-भाषा)