तिरुवनमलाई: तमिलनाडु में एक बुजुर्ग महिला को गांव में खेल रहे बच्चों को प्यार से चॉकलेट देने पर अपनी जान गंवानी पड़ गई. दरअसल, गांववालों को शक हुआ कि 65 साल की महिला दो बच्चों का अपहरण करने के लिए उन्हें बहला रही है. इस शक के चलते ग्रामीणों की भीड़ ने गांव में कार से आई महिला, ड्राइवर और उसके दो रिश्तेदार पर हमला कर दिया. अपहरण के शक के चलते गुस्साई भीड़ ने उन्हें इतना पीटा कि बुजुर्ग महिला ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया और उसके दो रिश्तेदार अस्पताल में जिंदगी-मौत के बीच संघर्ष कर रहे हैं. बीते बुधवार को हुए इस हत्याकांड में पुलिस ने 23 लोगों को गिरफ्तार किया है. ये वाकया तिरुवनमलाई जिले के पोलुर के पास अथिमोर गांव में हुआ है. Also Read - यूपी के कुशीनगर में बेकाबू भीड़ ने पुलिस के सामने ही हत्या के आरोपी को पीट-पीटकर मार डाला

पुलिस के मुताबिक, रुक्मिनी नाम की महिला गांव के एक मंदिर में मलेशिया से आए दो रिश्तेदारों, ड्राइवर के साथ चेन्नई से गांव के एक मंदिर में आए थे. पुलिस ने बताया कि गांव का मंदिर उनके परिवार के कुलदेवता का है. बुधवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे जब ये मंदिर जा रहे थे तो महिला ने उस इलाके में खेल रहे बच्चों को चॉकलेट दे दी. ऐसा करते हुए गांव की एक महिला ने बुजुर्ग रुक्मिनी को देख लिया तो उसने शोर दिया कि महिला बच्चों का अपहरण कर रही है. Also Read - पालघर हिंसा के बाद महाराष्ट्र में एक और साधु की हुई हत्या, प्रशासन में मचा हड़कंप, जांच में जुटी पुलिस

कुछ ही देर के बाद वहां भीड़ इकट्ठा हो गई और उन पर चिल्लाने लगी. ये देख महिला और उसके रिश्तदार कार भागने लगे लेकिन आधा किलोमीटर दूर ही भीड़ ने कार का रास्ता रोक दिया और महिला, ड्राइवर और उसके रिश्तेदार को खींचकर बाहर निकाला और डंडों से पीटा. जब तक पुलिस आती, तब तक गांव आए इन यात्रियों को पीट-पीट कर बुरा हाल कर दिया. पुलिस ने बताया कि हमलावर भीड़ में इतने लोग थे, कि उन्हें रोकना मुश्किल हो गया और समय पर उन्हें रोका नहीं जा सका. रुक्मिनी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. अन्य घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. (इनपुट- एजेंसी) Also Read - Palghar Mob Lynching: एक्शन मोड में आई उद्धव सरकार, सस्पेंड किए गए दो पुलिसकर्मी