नई दिल्ली: सीएए विरोधी प्रदर्शनकारी शरजील इमाम के बिहार के जहानाबाद स्थित घर और दिल्ली के वसंत कुंज इलाके में उसके फ्लैट से मोबाइल फोन, लैपटॉप तथा सीएए विरोधी पोस्टर जब्त किए गए हैं. पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. शरजील को राजद्रोह के एक मामले में दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने जहानाबाद से गिरफ्तार किया था. पुलिस उससे अलीगढ़ और जामिया मिल्लिया इस्लामिया में उसके कथित भड़काऊ भाषणों के संबंध में पूछताछ कर रही है.

पुलिस उपायुक्त (अपराध) राजेश देव ने बताया कि जांच के दौरान वसंत कुंज के उसके किराए के फ्लैट से एक लैपटॉप और एक कम्प्यूटर बरामद किया गया. उन्होंने बताया कि जहानाबाद के उसके घर से उसका मोबाइल फोन बरामद किया गया. पुलिस ने यह भी कहा कि शरजील ने सीएए और एनआरसी विरोधी पर्चे बनाए थे जिसमें गुमराह करने और भयभीत करने वाले तथ्य थे. उसने ये पर्चे कई मस्जिदों में बंटवाए थे. इसकी प्रति भी प्राप्त कर ली गई है.

आरोपी युवक CAA के खिलाफ प्रदर्शनकारियों को मानता था ‘राष्ट्र विरोधी गतिविधियां’

उन्होंने बताया कि जिस दुकान से इनकी फोटोकॉपी कराई गई थी उसकी भी पहचान कर ली गई है. आपको बता दें कि दिल्‍ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने बुधवार की शाम देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किए गए जेएनयू छात्र शरजील इमाम को 5 दिन के लिए दिल्‍ली पुलिस की हिरासत में भेज दिया गया था. पटियाला हाउस अदालत परिसर में कुछ वकीलों ने देशद्रोही कहते हुए नारे लगाए. कुछ वकीलों ने शरजील के खिलाफ नारेबाजी की और उनके हाथों में मौजूद पोस्टरों में उसे ‘देशद्रोही’ कहा गया था. उन्होंने उसे फांसी देने की मांग की.

अदालत परिसर के बाहर सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए. बता दें कि जामिया मिल्लिया इस्लामिया और अलीगढ़ में भड़काऊ भाषण देने के आरोप में मंगलवार को बिहार के जहानाबाद से शरजील इमाम को से गिरफ्तार किया गया था.