नई दिल्ली:कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी में अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी और जसवंत सिंह सरीखे दिग्गज नेताओं का अपमान किए जाने का आरोप लगाया और कहा कि एकलव्य ने अपने गुरु के कहने पर अंगूठा काटकर भेंट कर दिया था, लेकिन बीजेपी में तो गुरुजनों को ही किनारे लगा दिया गया है. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि इन दिग्गज नेताओं और उनके परिवार का अपमान करना भारतीय संस्कृति की रक्षा करने का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का तरीका है.

हिंदू धर्म में गुरु का सर्वाधिक महत्व
महाराष्ट्र दौरे पर पहुंचे राहुल ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए कहा, ‘एकलव्य ने अपने गुरु के कहने पर अपना दाहिने हाथ का अंगूठा का काटकर भेंट कर दिया था. बीजेपी में तो अपने गुरुजनों को ही अपमानित किया जा रहा है. उन्होंने दावा किया, ‘‘वाजपेयी जी, आडवाणी जी, जसवंत सिंह जी और उनके परिवारों का अपमान करना भारतीय संस्कृति की रक्षा करने का प्रधानमंत्री का तरीका है. इससे पहले, कांग्रेस अध्यक्ष मुंबई में कार्यकर्ताओं की एक बैठक के दौरान आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने गुरु आडवाणी का अपमान किया जबकि हिदू धर्म की सीख के अनुसार व्यक्ति के जीवन में गुरु का सर्वाधिक महत्वपूर्ण स्थान होता है.

अटल को देखने जाने वाला पहला व्यक्ति मैं था
गांधी ने कहा कि हर व्यक्ति जानता है कि मोदी के गुरु और मार्गदर्शक आडवाणी हैं. लेकिन प्रधानमंत्री सरकारी कार्यक्रमों में भी उनका सम्मान नहीं करते. वह तो मैं हूं जो प्रोटोकॉल का पालन करता हूं और मैं (ऐसी) घटनाओं के दौरान सदैव उनके साथ हूं. उन्होंने कहा ,‘ आज मैं आडवाणीजी के लिए बहुत दुख होता है. कांग्रेस पार्टी ने उन्हें मोदी जी से अधिक सम्मान दिया है. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी 2004 और 2009 के संसदीय चुनाव लड़ी और उसने आडवाणी (के नेतृत्व में भाजपा को) हराया. उन्होंने कहा ,‘ अब , यही कांग्रेस पार्टी और उसकी विचारधारा आडवाणी का सम्मान करती है. उन्होंने कहा कि कल पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के अस्पताल में भर्ती होने के बाद उन्हें वहां देखने जाने वाला पहले व्यक्ति वह ही थे. उन्होंने कहा , ‘ हमारा मानना है कि वाजपेयी ने देश के लिए योगदान दिया.

बीजेपी ने लगाया आरोप
वहीं राहुल गांधी पर निचले स्तर की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए बीजेपी ने कहा कि यह अत्यंत अजीबोगरीब है कि देश के सबसे पुराने राजनीतिक दल के अध्यक्ष इतने निचले स्तर तक जा रहे हैं और बेतुके आरोप लगाकर राजनीतिक मर्यादा का उल्लंघन कर रहे हैं. भाजपा प्रवक्ता अनिल बलूनी ने आरोप लगाया कि यह स्पष्ट है कि कांग्रेस अध्यक्ष का भारतीय मूल्यों से कोई सरोकार नहीं है और वह राजनीतिक एवं सामाजिक मर्यादाओं का उल्लंघन कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को हमें राजनीतिक मूल्यों पर उपदेश देने की जरूरत नहीं है. बलूनी ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष निचले स्तर की राजनीति कर रहे है और उन्होंने सभी सामाजिक एवं राजनीतिक मर्यादाओं को ताक पर रख दिया है. उन्हें पता ही नहीं है कि वे किस प्रकार की राजनीति कर रहे हैं.