औरंगाबाद: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सत्ताधारी भाजपा पर परोक्ष हमला बोलते हुए विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने शुक्रवार को कहा कि लोगों ने अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए मोदी सरकार को चुना था, तीन तलाक पर कानून बनाने के लिए नहीं। उन्होंने कहा कि सरकार को राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ करने के लिए एक कानून बनाना चाहिए. Also Read - मोदी सरकार का बड़ा फैसला- जम्मू कश्मीर में अब कोई भी खरीद सकेगा जमीन, गृह मंत्रालय ने जारी किया नोटिफिकेशन

पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘लोगों ने आपको तीन तलाक पर कानून बनाने के लिए नहीं बल्कि अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए चुना है.’ औरंगाबाद और परभनी के दो दिन के दौरे पर आए तोगड़िया गुरुवार शाम यहां पहुंचे थे. उन्होंने कहा, ‘चूंकि मंदिर नहीं बनाया गया है, इसलिए इस बाबत एक कानून पारित करना चाहिए ताकि इसका निर्माण हो सके और इसके बगल में मस्जिद नहीं हो.’ उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने एक बार फिर राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुनवाई स्थगित कर दी है. Also Read - RSS प्रमुख के चीन को लेकर दिये बयान पर आया राहुल गांधी का रिएक्शन, कहा- 'भागवत सच जानते हैं लेकिन...' 

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली उच्चतम न्यायालय की एक पीठ ने गुरुवार को कहा था कि वह बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि विवाद पर दायर अपीलों की सुनवाई 14 मार्च को करेगी. तोगड़िया ने कहा, ‘लंबे समय से हिंदू समुदाय मंदिर का इंतजार करता रहा है, इसलिए इसका निर्माण होना चाहिए.’ Also Read - Mohan Bhagwat Dussehra Speech 2020: दशहरे पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने की शस्त्र पूजा, कहा - भारत की प्रतिक्रिया से सहम गया चीन

विहिप नेताओं की यात्रा के मद्देनजर शहर की पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं. दो डीसीपी, पांच एसीपी और 17 पुलिस इंस्पेक्टरों सहित सात सौ पुलिसकर्मियों को सुरक्षा मुहैया कराने की ड्यूटी में तैनात किया गया है.