औरंगाबाद: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सत्ताधारी भाजपा पर परोक्ष हमला बोलते हुए विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने शुक्रवार को कहा कि लोगों ने अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए मोदी सरकार को चुना था, तीन तलाक पर कानून बनाने के लिए नहीं। उन्होंने कहा कि सरकार को राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ करने के लिए एक कानून बनाना चाहिए. Also Read - अयोध्या में निजी स्कूल की दरियादिली, 400 बच्चों की फीस माफ, अभिभावक बोले- THANK YOU

पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘लोगों ने आपको तीन तलाक पर कानून बनाने के लिए नहीं बल्कि अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए चुना है.’ औरंगाबाद और परभनी के दो दिन के दौरे पर आए तोगड़िया गुरुवार शाम यहां पहुंचे थे. उन्होंने कहा, ‘चूंकि मंदिर नहीं बनाया गया है, इसलिए इस बाबत एक कानून पारित करना चाहिए ताकि इसका निर्माण हो सके और इसके बगल में मस्जिद नहीं हो.’ उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने एक बार फिर राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुनवाई स्थगित कर दी है. Also Read - Ayodhya Masjid: मक्का के काबा शरीफ की तरह होगी अयोध्या की मस्जिद, जानें कैसी दिखेगी...

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली उच्चतम न्यायालय की एक पीठ ने गुरुवार को कहा था कि वह बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि विवाद पर दायर अपीलों की सुनवाई 14 मार्च को करेगी. तोगड़िया ने कहा, ‘लंबे समय से हिंदू समुदाय मंदिर का इंतजार करता रहा है, इसलिए इसका निर्माण होना चाहिए.’ Also Read - इकबाल अंसारी का सीबीआई कोर्ट से आग्रह- अब खत्म हो बाबरी मस्जिद का मामला

विहिप नेताओं की यात्रा के मद्देनजर शहर की पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं. दो डीसीपी, पांच एसीपी और 17 पुलिस इंस्पेक्टरों सहित सात सौ पुलिसकर्मियों को सुरक्षा मुहैया कराने की ड्यूटी में तैनात किया गया है.