नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार 2019 के लोकसभा चुनाव में एक बार फिर सबका साथ सबका विकास के नारे के साथ जाना चाहती है. बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में नया जनादेश मांगने से पहले हर गांव तक सरकार की सात महत्वाकांक्षी योजनाओं का लाभ पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है. उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्षो में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने गरीबों को चयनित करके जन कल्याण योजनाओं का लाभ उन तक पहुंचाया है और वह आगे भी ऐसा करेगी. Also Read - 31 मई के बाद क्या चाहते हैं राज्य? गृह मंत्री अमित शाह ने पीएम मोदी को बताए मुख्यमंत्रियों के सुझाव

ये हैं सात योजनाएं
केंद्र की एनडीए सरकार के 4 साल पूरा होने से पहले अमित शाह ने बीजेपी मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा कि सरकार ने 14 अप्रैल से 5 मई तक ‘ग्राम स्वराज अभियान’ नामक एक अनूठा प्रयोग चलाया था. आज़ादी के बाद पहली बार किसी भी सरकार ने 16,850 गावों को समस्या मुक्त करने का काम पहली बार हाथ में लिया. उन्होंने कहा कि इसके माध्यम से 484 जिलों में स्थित इन गांवों में उज्जवला योजना, उजाला योजना, प्रधानमंत्री जनधन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, सुरक्षा बीमा योजना, सौभाग्य योजना और मिशन इंद्रधनुष टीकाकरण योजनाओं का लाभ पहुंचाने की पहल की गई. Also Read - अगर लॉकडाउन बढ़ा तो इस बार कितनी मिलेगी छूट? पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के बीच मंथन जारी

हर गांव में पहुंचेगा लाभ
बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि अब 15 अगस्त 2018 तक विकास की दौड़ में पीछे रह गए 115 आकांक्षी जिलों को आगे लाने का कार्य किया जाएगा. इससे 45 हजार गांवों में इन सातों योजनाओं का लाभ पहुंचाया जाएगा. इस प्रकार से 15 अगस्त 2018 तक देश में 65 हजार गांव ऐसे होंगे जहां हर घर में बिजली, एलईडी बल्ब होगा, हर बच्चा टीका युक्त होगा, हर घर में एलपीजी गैस सिलिंडर उपलब्ध होगा. शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री की इस पहल के तहत धीरे-धीरे देश के हर गांव में इन सात योजनाओं का लाभ पहुंचाने का विचार किया गया है. Also Read - ट्रंप के पीएम मोदी से बात करने के दावे पर उठे सवाल, भारत सरकार ने दिया ये स्पष्टीकरण

पीएम मोदी ने रखा लक्ष्य
उन्होंने कहा,‘2019 के चुनाव में जाने से पहले और नया जनादेश मांगने से पहले इन सात कार्यो को गांवों तक पहुंचाने का लक्ष्य प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रखा है. शाह ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार किसी प्रधानमंत्री ने गरीबों को इस प्रकार से चयनित करके योजनाओं का लाभ पहुंचाने का काम किया है. उन्होंने कहा कि गरीबों को सरकार के पास नहीं जाना पड़े बल्कि सरकार गरीबों के पास पहुंचे. नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने इस लक्ष्य के साथ काम किया है. हमारा लक्ष्य गरीबों को सभी सुविधाओं से युक्त करना है.

ग्राम स्वराज योजनाओं की जानकारी
उन्होंने कहा कि अभी तक 65 हजार गांवों तक इन सात योजनाओं का लाभ पहुंचाने की रूपरेखा बनी है.अमित शाह ने 14 अप्रैल से 5 मई तक चली ग्राम स्वराज योजनाओं की प्रगति की जानकारी दी और इस दौरान पावर प्वायंट प्रेजेंटेशन भी दिया. उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना में गैस सिलिंडर, सौभाग्य योजना में बिजली कनेक्शन, उजाला योजना में एलईडी बल्ब दिया गया और हर घर के अंदर लोगों को बीमा योजना से सुरक्षित करने का काम किया गया.

स्वच्छता को लेकर जागरुकता बढ़ी
उन्होंने कहा कि इस अभियान के दौरान 20 लाख 53 हजार 599 परिवारों का जन धन योजना में बैंक खाता खुला. यह नरेन्द्र मोदी सरकार की उपलब्धि है. बीजेपी अध्यक्ष ने दावा किया कि आजादी के बाद पहली बार किसी सरकार ने 16,800 गांवों को समस्यामुक्त बनाने का प्रयास किया गया है. उन्होंने कहा कि करीब 1200 सरकारी अधिकारियों ने 484 जिलों में स्थित इन गांवों में रात्रि निवास किया है. अमित शाह ने कहा कि स्वच्छता को लेकर देश में जागरूकता बढ़ी है. हर बच्चे को टीका लगाने का काम पूरा किया गया है.