कोयम्बटूर: तमिलनाडु के कोयम्बटूर पुलिस ने सोमवार को सीरियल ब्लास्ट में एक सजायाफ्ता आतंकी को दोबारा गिरफ्तार किया है. उसकी गिरफ्तारी एक रिकॉर्डेड टेलिफोनिक बातचीत के बाद की गई है. ये रिकॉडिंग सोशल मीडिया में वायरल हो गई थी. पुलिस के मुताबिक, 1998 के सीरियल ब्लास्ट में सजायाफ्ता को ऑडियो में ये कहते हुए साफ सुना जा सकता है कि वह प्रधानमंत्री मोदी को मारने की प्लानिंग कर रहा है.

8 मिनट की उसकी बातचीत एक बिजनेसमैन से हो रही है. पुलिस ने आरोपी मोहम्मद रफीक को गिरफ्तार किया है. इसके बाद उसे 15 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया.

मोदी का हटाने का फैसला कर लिया
पुलिस के मुताबिक,ये बातचीत मुख्यरूप से व्हीकल्स के फाइनेंस से जुड़ी हैं और एक बिजनेसमैन प्रकाश और उसके बीच हो रही है. बातचीत के दौरान सीरियल बम ब्लास्ट का सजायाफ्ता अचानक कहता है, ”हमने मोदी को हटाने का फैसला कर लिया है, हम उनमें से हैं, जिन्होंने 1998 में शहर में आडवाणी की यात्रा के दौरान बम प्लांट किए थे”.

पुलिस ने बताया कि आरोपी ऑडियो में कह रहा है” मेरे खिलाफ कई केस हैं और मैंने 100 से ज्यादा वाहन बर्बाद कर चुका हूं”

आडवाणी की यात्रा के दौरान ब्लास्ट में मारे गए थे 58 लोग
बता दें कि कोयम्बटूर में फरवरी 1998 में बीजेपी के शीर्ष नेता लालकृष्ण आडवाणी की यात्रा के दौरान सीरियल बम ब्लास्ट हुए थे. इन ब्लास्ट से पूरा शहर दहल गया था और 58 लोगों की मौत के साथ करोड़ों रुपए की संपत्ति भी नष्ट हो गई थी. सीरियल ब्लास्ट की सजा काटने के बाद रफीक कोयम्बटूर के कुनियमुथुर में रहता है. (इनपुट- एजेंसी)