लखनऊ: अयोध्या में पांच अगस्त को होने वाले भूमि पूजन तथा कार्यारम्भ कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए संघ प्रमुख मोहन भागवत मंगलवार को लखनऊ पहुंच गए हैं. संघ सूत्रों ने बताया कि वह सुबह राजधानी स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में पहुंचे. यहां वह संघ के पदाधिकारियों के साथ बैठक भी करेंगे और दोपहर तक सड़क मार्ग से अयोध्या के लिए रवाना हो जाएंगे. लखनऊ से अयोध्या संघ के कौन-कौन प्रमुख पदाधिकारी जाएंगे, इसे लेकर सोमवार देर शाम संघ कार्यालय भारती भवन में बैठक हुई. Also Read - Corona Vaccine की बड़ी खबर: यूपी के इन दो शहरों में जल्द शुरू होगा ‘Covaxin’ का थर्ड फेज ट्रायल

कोरोनावायरस के चलते पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह भी अयोध्या नहीं जाएंगे. श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण और स्वास्थ्य कारणों से पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह भूमि पूजन के कार्यक्रम में नहीं शामिल होंगे. वहीं, संघ प्रमुख मोहन भागवत सरकार्यवाहक भइया जी जोशी समेत संघ के प्रचारक अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण के शिलान्यास कार्यक्रम में शामिल होंगे. Also Read - Ayodhya Masjid: मक्का के काबा शरीफ की तरह होगी अयोध्या की मस्जिद, जानें कैसी दिखेगी...

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमा भारती को पांच अगस्त को रामनगरी अयोध्या में भूमि पूजन में शामिल होने का निमंत्रण मिल गया है. इसके बाद भी मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती भूमि पूजन में शामिल नहीं होंगी. उमा भारती भूमि पूजन के समय अयोध्या में सरयू नदी के तट पर रहेंगी. पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने ट्विटर पर अपनी योजना साझा की. वह भूमि पूजन के दौरान सरयू तट पर रहेंगी. उन्होंने कहा इसकी सूचना उन्होंने अयोध्या में रामजन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ अधिकारी और पीएमओ को दे दी है कि नरेंद्र मोदी के शिलान्यास कार्यक्रम के समय उपस्थित समूह के सूची में से मेरा नाम अलग कर दें. Also Read - आरएसएस मुख्यालय में 9 सीनियर स्वयंसेवक कोरोना वायरस के टेस्‍ट में पॉजिटिव निकले