Monsoon 2020: दक्षिण-पश्चिम मानसून ने केरल में बारिश के साथ सोमवार को दस्तक दे दी है. पूरे दिन प्रदेश से भारी बारिश की तस्वीरें आती रहीं.Also Read - August Me Kaisa Rahega Delhi Ka Muasam: जुलाई में रिकॉर्ड बारिश के बाद इस महीने कैसा रहेगा दिल्ली का मौसम, जानिए

गौरतलब है कि भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने पहले ही अनुमान जताया कि केरल में 1 जून तक मानसूनी बारिश हो सकती है. अब केरल में बारिश के साथ ही देश में चार महीने लंबे बारिश के मौसम की शुरुआत हो गई है. Also Read - Peeling Skin During Monsoon: मानसून में क्या आापके हाथ-पैरों की भी उतर जाती है स्किन? अपनाएं ये घरेलू उपाय

आईएमडी ने सोमवार को कहा, “दक्षिण-पश्चिम मानसून केरल पहुंच गया है.” Also Read - महाराष्ट्र: बारिश के कहर से अब तक 113 लोगों की मौत, 100 लापता, CM ठाकरे ने बाढ़ क्षेत्र का दौरा किया

आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय मोहपात्रा ने कहा, “मानसून आ गया है. केरल में कई स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा हुई है. बादल और तेज हवाओं में भी लगातार वृद्धि हुई है. यह अनुमान के अनुरूप है.”

मौसम विभाग ने केरल के लिए भारी बारिश की चोतावनी भी जारी की है. मौसम विभाग के मुताबिक, “हल्की आंधी और तेज गति के साथ 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवाओं के साथ व बिजली कड़कने के साथ तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, एर्नाकुलम, त्रिशूर, कोझिकोड, मलप्पुरम, कासरगोड और कन्नूर में सामान्य बारिश होने की संभावना है.”

आईएमडी ने इससे पहले कहा था कि अरब सागर के ऊपर चक्रवात ‘निसर्ग’ के बनने से एक जून को केरल में मानसून की शुरुआत के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं.

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव माधवन राजीवन ने 15 अप्रैल को कहा था कि इस वर्ष मानसून की बारिश सामान्य रूप से 100 प्रतिशत होने की संभावना है. इसमें पांच प्रतिशत इधर-उधर हो सकता है.
(एजेंसी से इनपुट)