नई दिल्‍ली: महाराष्ट्र में आज मानसून पहुंच गया और अगले 48 घंटे में राज्‍य के कुछ हिस्‍सों में मानसून के आगे बढ़ने के लिए अनुकूल परिस्‍थितियां है. मराठवाड़ा और मध्‍य महाराष्‍ट्र में अगले 4-5 दिनों में भारी बारिश होने का अनुमान है. ये बात मानसून विभाग मुंबई के डिप्‍टी डायरेक्‍टर जनरल केएस होसालीकर आज कही है. वहीं, ओडिशा जिलों में व्यापक वर्षा और अगले 24 घंटों में कोरापुट, मलकानगिरि में भारी से बहुत भारी वर्षा होने की उम्मीद है. Also Read - Locust को कंट्रोल करने जैसलमेर में हेलिकॉप्‍टर तैनात, 6 राज्‍यों के 70 जिले में फैल चुकी हैं टिड्डियां

आईएमडी ने कहा, मध्य अरब सागर और महाराष्ट्र, तेलंगाना के शेष हिस्सों, पश्चिमोत्तर और बंगाल की खाड़ी, अरुणाचल प्रदेश और असम और मेघालय, सिक्किम, ओडिशा और वेस्‍ट बंगाल के कुछ और हिस्सों में अगले 48 घंटे अनुकूल हैं. Also Read - Coronavirus in India latest Update: नहीं लग रहा कोरोना संक्रमण पर ब्रेक, 24 घंटे में 22 हजार से ज्यादा नए मामले, 6.50 लाख के करीब लोग संक्रमित

आईएमडी भुवनेश्वर (ओडिशा) के निदेशक ने एचआर विश्वास ने कहा, दक्षिणपश्चिम मानसून ने आज ओडिशा को कवर कर लिया है दक्षिण और तटीय ओडिशा जिलों में व्यापक वर्षा और अगले 24 घंटों में कोरापुट, मलकानगिरि में भारी से बहुत भारी वर्षा होने की उम्मीद है.

दक्षिण पश्चिम मानसून ने ओडिशा में दस्तक दी, राज्य के कई हिस्सों में हुई वर्षा
दक्षिण-पश्चिम मानसून आधिकारिक तौर पर बृहस्पतिवार को ओडिशा पहुंच गया, जिससे राज्य के कई हिस्सों में बारिश हुई. यह जानकारी मौसम विज्ञान विभाग ने दी. मानसून आने से मलकानगिरि, कोरापुट, रायगढ़ा, गजपति और गंजाम सहित कई जिलों में दिन में बारिश हुई.किसानों के चेहरों पर बारिश देख कर खुशी आ गई.

मौसम विज्ञान केंद्र, भुवनेश्वर के निदेशक एच आर बिस्वास ने कहा, ”दक्षिण-पश्चिम मानसून ने ओडिशा में दस्तक दे दी है. मानसून अब तक राज्य के कई दक्षिणी जिलों में छा गया है. बिस्वास ने कहा कि दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने में पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र से काफी हद तक मदद मिल रही है.

मौसम विभाग के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि मानसून के राज्य के अन्य हिस्सों में बढ़ने के लिए स्थितियां अनुकूल हैं. अधिकारी ने कहा कि अब दक्षिण-पश्चिम मानसून पूरे ओडिशा को एक सप्ताह में कवर कर सकता है. मौसम विभाग के केंद्र ने कहा है कि ओडिशा के अधिकतर हिस्सों में कम दबाव के प्रभाव से मध्यम से भारी वर्षा होने की संभावना है. मॉनसून की शुरुआत चार महीने लंबे बरसात के मौसम की शुरुआत होती है.

24 घंटे से ओडिशा के कई हिस्सों में मॉनसून-पूर्व वर्षा
पिछले 24 घंटे से ओडिशा के कई हिस्सों में मॉनसून-पूर्व वर्षा हो रही थी. विशेषकर दक्षिणी और पूर्वी क्षेत्र में, जिनमें गंजाम, कोरापुट, गजपति, रायगढ़ा, कंधमाल, खुर्दा, पुरी, कटक, जगतसिंहपुर और बालासोर जैसे जिले शामिल हैं. मौसम विभाग के अनुसार, इस साल ओडिशा सहित मध्य भारत में सामान्य मानसून अपेक्षित है.

तेलंगाना के ज्यादातर हिस्सों में हो सकती है बारिश
दक्षिण-पश्चिमी मानसून बृहस्पतिवार को तेलंगाना के ज्यादातर हिस्सों की तरफ बढ़ रहा है और अगले तीन दिन के दौरान राज्य के अधिकांश भाग में भारी बारिश की संभावना है.

तेलंगाना के कई हिस्‍सों में बारिश हुई
भारत मौसम विज्ञान विभाग केंद्र ने यहां बताया कि तेलंगाना के बाकी बचे हिस्सों में भी 48 घंटे के भीतर दक्षिणी पश्चिम मानसून के पहुंचने की अनुकूल स्थितियां बन रही हैं. पिछले 24 घंटे में हुई बारिश के गुरुवार सुबह आठ बजे तक दर्ज आंकड़ों के अनुसार महबूबाबाद जिले के डोरांकल में 14 सेमी और इसी जिले के गर्ला में 13 सेमी बारिश हुई. वहीं, वारंगल शहरी जिले के हनामकोंडा और यदादरी-भोंगीर जिले के यदागिरिगुट्टा में क्रमश: 12 सेमी और 11 सेमी बारिश हुई.

तेलंगाना दूरदराज के क्षेत्रों में बेहद भारी बारिश होगी
मौसम केंद्र ने तेलंगाना में मौसम के अगले तीन दिन के पूर्वानुमान में बताया है कि कुछ स्थानों पर 11 जून से 12 जून के बीच भारी से भारी बारिश और कुछ दूरदराज के इलाकों में काफी भारी बारिश की संभावना है. वहीं, 12 जून से 13 जून के बीच भारी से काफी भारी और वहीं, दूरदराज के क्षेत्रों में बेहद भारी बारिश होगी. इसके अलावा 13 से 14 जून के बीच तेलंगाना में दूरदराज के इलाकों में भारी बारिश होगी.