नई दिल्ली: केरल में रविवार को चार लोगों की मौत के साथ ही राज्य में पिछले दो दिनों में अबतक भारी बारिश होने से 13 लोगों की जान जा चुकी है जबकि उत्तर भारत के कई हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य के आसपास बना हुआ है. अधिकारियों के अनुसार केरल में ज्यादातर मौतें उफनती नदियों में लोगों के डूब जाने और पेड़ों के गिरने से उनके नीचे कुचलकर हुईं. रविवार को तिरुवनंतपुरम, पठानमथिट्टा और अलप्पझुआ जिलों में चार लोगों की जान चली गई.

दक्षिण पश्चिम मानसून के आने पर केरल में भारी वर्षा हुई और इडुकी, कोझिकोड़ और कन्नूर जिलों में फसलों और संपत्तियों का भारी नुकसान हुआ. बेंगलुरु में वर्षा ने भारत के विरुद्ध अफगानिस्तान के पहले ऐतिहासिक टेस्ट से पहले उसके पहले प्रैक्टिस सत्र पर पानी फेर दिया. उत्तर भारत में राजस्थान में हल्की बारिश से लोगों को तपती गर्मी से राहत मिली. जैसलमेर 41.2 डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान के साथ राज्य का सबसे गर्म स्थान रहा.

अधिकारी ने बताया कि पूर्वी राजस्थान में कुछ स्थानों पर धूल और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में रविवार को सुबह तापमान कम था, लेकिन दिन में ठीकठाक धूप बनी रही. रविवरा को दिल्ली में अधिकतम तापमान 38.4 डिग्री सेल्सियस रहा जो सामान्य से कम है. मौसम विभाग ने रविवार को दिन में वर्षा का अनुमान लगाया था लेकिन वर्षा नहीं हुई.

मौसमविभाग ने सोमवार को आसमान में आंशिक रुप से बादल छाए रहने का अनुमान व्यक्त किया है. हिमाचल प्रदेश के कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा हुई. राज्य में सबसे अधिक 35 मिलीमीटर वर्षा पोंटा साहिब में हुई. लखनऊ में मौसम कार्यालय ने सोमवार को पूर्वी उत्तर प्रदेश में वर्षा और गरज के साथ बौछारें पड़ने का अनुमान लगाया है. पंजाब और हरियाणा में रविवार को अधिकतम तापमान सामान्य के आसपास रहा. दोनों राज्यों में शनिवार को कई स्थानों पर बारिश हुई थी.

(इनपुट: एजेंसी)