नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जयपुर में केन्द्र और प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों से आज संवाद करेंगे. मोदी दोपहर एक बजकर पांच मिनट पर जयपुर पहुंचेंगे. प्रधानमंत्री अमरूदों के बाग में केन्द्र और प्रदेश सरकार की 12 विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लगभग 2.50 लाख लाभार्थियों के साथ संवाद करेंगे. सरकार ने प्रदेश के 33 जिलों से लाभार्थियों को जयपुर में प्रधानमंत्री से संवाद करने के स्थान तक लाने के लिए पांच हजार 579 बसों का प्रबंध किया है. प्रशासन विभाग के एक आदेश के अनुसार 33 जिलों से लाभार्थियों को जयपुर लाने के लिये राज्य सरकार 722.53 लाख रूपये खर्च करेगी. Also Read - अशोक गहलोत ने कांग्रेस विधायकों को क्यों दिलाई अटल बिहारी वाजपेयी की याद, लिखा ये पत्र

इतना करोड़ होगा खर्च
आदेश के अनुसार लाभार्थियों को जयपुर लाने वाली बसों को 20 रूपये प्रति किलोमीटर का भुगतान किया जाएगा, और इससे राजकीय कोष पर लगभग 7.2 करोड़ का खर्च होगा. अधिकतर बसें अलवर, उदयपुर और अजमेर से आने की संभावना है. अकेले जयपुर से लाभार्थियों को लाने के लिये 532 बसें चक्कर लगाएंगी. आदेश के अनुसार उज्जवला योजना के तहत पारंपरिक खाना पकाने की जगह एलपीजी सिलेंडर का आंशिक खर्चा तेल कंपनियों द्वारा वहन किया जाएगा. हालांकि एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स फेडरेशन ने इस आदेश का विरोध जताते हुए कहा कि जिला रसद अधिकारी उन पर अनुचित और अवैध मांगों का दबाव बना रहे हैं. Also Read - जम्मू-कश्मीर में नेताओं पर बढ़े हमले पाकिस्तान की हताशा: भाजपा

राजस्थान के एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स फेडरेशन के अध्यक्ष दीपक सिंह गहलोत ने कहा कि तेल कंपनिया को इस खर्चे को वहन करना चाहिए लेकिन जिला रसद अधिकारी इन अनुचित और अवैध मांगों को मानने के लिए दबाव बना रहे हैं. हमने मुख्य सचिव को इस बारे में पत्र लिखा है. मुख्य सचिव ने हमें सब तरह की सहायता का भरोसा दिलाया है. Also Read - राजस्थान: पाकिस्तान से आए हिंदू शरणार्थी परिवार के 11 सदस्य मृत मिले, वजह का पता नहीं

पीएम की सुरक्षा चौकस
प्रधानमंत्री की यात्रा के लिये शहर में कड़े सुरक्षा बंदोबस्त किए गए हैं. अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एनआरके रेड्डी ने बताया कि प्रधानमंत्री की यात्रा के लिए शहर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. प्रधानमंत्री के सभा स्थल के पास सवाई मान सिंह स्टेडियम में दो हेलीपैड बनाए गए हैं. सभी संवेदनशील इलाकों में भारी सुरक्षा बल तैनात कर सीसीटीवी कैमरे लगाये गए हैं. किसी भी संदिग्ध गतिविधि की सूचना की चेतावनी अस्थायी नियंत्रण कक्ष को दी जा सकेगी. रेड्डी ने कहा कि हमने आसपास के 18 जिलों के पुलिस अधीक्षकों को बुलाया है, ये सभी अधिकारी पूर्व में जयपुर में तैनात रह चुके हैं और शहर की भौगोलिक स्थितियों से वाकिफ हैं.

ब्लैक ड्रेस और पानी की बोतल लाने पर रोक 

बसों के रूट चार्ट, सभा में आने वाली बसों के प्रभारी होंगे

लाभार्थियों को सैस, बैग और पठन सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी

सभा में बैग, पैकेट और बोतल लाने पर रहेगी पाबंदी

लाभार्थियों को खाने की व्यवस्था रहेगी

बस में मेडिकल किट की व्यवस्था भी रहेगी

लाभार्थियों को बस और ड्राइवर के नंबर की पर्ची दी जाएगी

प्रत्येक बस सुपरवाईजर के पास भी लाभार्थी के नंबर होंगे

प्रत्येक लाभार्थी को लाना होगा साथ में भामाशाह कार्ड

लाभार्थी काले रंग के वस्त्र, रूमाल इत्यादि ना धारण करें

बसों में लंच, डिनर, नाश्ता पानी और प्राथमिक उपचार की व्यवस्था

लंच की व्यवस्था कलेक्टर करेंगे और डिनर की व्यवस्था एमएलए करेंगे