कई राज्यों में कोरोना वैक्सीन के पर्याप्त डोज उपलब्ध न होने की वजह से वयस्कों के लिए एक मई से टीकाकरण शुरू नहीं हो पा रहा है. इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीके की एक करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध है और उन्हें अगले तीन दिनों में 20 लाख खुराक और मिलेगी.Also Read - Monkeypox Disease: यौन संबंध बनाने से भी फैल सकता है 'मंकीपॉक्स' वायरस, विशेषज्ञों ने चेताया

हाल ही में महाराष्ट्र सरकार के कुछ अधिकारियों के हवाले से मीडिया में खबरें आई कि राज्य में टीके की खुराक खत्म हो गई है जिससे राज्य में टीकाकरण अभियान पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है. इस पर मंत्रालय ने कहा कि राज्य के पास अब भी 7,49,960 खुराक उपलब्ध है. Also Read - अभी तक नहीं हुए कोरोना के शिकार; इसे किस्मत न मानें, हो सकती हैं ये वजह

उसने कहा, ‘‘यह स्पष्ट किया जाता है कि महाराष्ट्र को 29 अप्रैल को सुबह आठ बजे तक 1,63,62,470 टीके मिले.’’ Also Read - खाद्यान्न की जमाखोरी करने वाले देशों को भारत की यूएन में खरी-खरी, कहा- गेहूं को कोरोना वैक्सीन न समझें पश्चिमी देश

मंत्रालय ने कहा, ‘‘इनमें से खराब (0.22 प्रतिशत) होने वाली खुराक के साथ ही 1,56,12,510 खुराक की खपत हुई. राज्य के पास अब भी टीके की 7,49,960 खुराक उपलब्ध हैं.’’

भारत सरकार ने अब तक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोविड-19 से प्रतिरक्षा हेतु टीके की करीब 16.16 करोड़ खुराक उपलब्ध कराई है.

मंत्रालय ने कहा कि इनमें से खराब होने वाली खुराक के साथ ही 15,10,77,933 खुराक की खपत हुई है.

उसने कहा, ‘‘राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास टीके की एक करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध हैं. अगले तीन दिनों में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 20 लाख से अधिक खुराक उपलब्ध कराई जाएगी. ’’

मंत्रालय ने बताया कि कोविड-19 टीकाकरण का तीसरा चरण एक मई से शुरू होगा.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 18 साल से अधिक आयु के सभी नागरिकों के वास्ते कोविड-19 रोधी टीका लगवाने के लिए बुधवार को कोविन पोर्टल या आरोग्य सेतु ऐप के जरिए पंजीकरण शुरू हो गया.