नई दिल्‍ली: देश की राजधानी दिल्‍ली में कोरोना वायरस की महामारी से जूझते हुए 28 दिन बाद पटरी पर जिंदगी लौटते दिखी. सोमवार को दिल्‍ली के बंगाली मार्केट में जरूरी सामान की दुकानें खोलीं गई, जो पहले कंटेनमेंट एरिया घोषित था. लॉकडाउन के तीसरे चरण के बीच में इस इलाके में कंस्‍ट्रक्‍शन वर्क की शुरुआत भी हो गई है. वहीं, दिल्‍ली में सरकारी ऑफिस भी शुरू हो गए हैं. मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्री भी अपने-अपने कार्यालय पहुंचे. Also Read - मुश्किल वक्त में प्रवासी मजदूरों के साथ हर समय खड़ी है समाजवादी पार्टी, हर संभव करेंगे मदद : अखिलेश यादव

दिल्ली: दिल्ली सरकार द्वारा Coronavirus Lockdown के बीच कई ढील देने की घोषणा के बाद आज राष्ट्रीय राजधानी में सड़कों पर वाहनों की संख्या अधिक देखी गई है. Also Read - Coronavirus Latest News: विश्व में 64 लाख से ज्यादा लोग कोविड-19 के शिकार, लगभग चार लाख लोग गवां चुके जान

राजधानी के कई इलाकों में शराब की शॉप्‍स भी खुल गईं हैं और यहां लंबी-लाइन नजर आ रहीं हैं. कहीं-कहीं पुलिस ने सोशल डिस्‍टेंसिंग बनाए रखने के लिए बल का भी प्रयोग किया है.

देश की राजधानी में फिर से गतिविधिया तब शुरु हुई जब दिल्‍ली सरकार ने ऐसे इलाके में प्रतिबंधों में छूट दी है, जहां पिछले काफी समय से कोरोना वायरस के पॉजिटिव केस नहीं आए हैं. दिल्‍ली सरकार ने बताया कि बंगाली मार्केट में पिछले 28 दिनों से COVID19 का कोई नया केस सामने नहीं आया है.


दिल्ली में गृह मंत्रालय द्वारा जारी किए गए संशोधित दिशानिर्देशों के बाद, निर्माण गतिविधियां फिर से शुरू हो गईं हैं, जहां कंस्‍ट्रक्‍शन साइट पर श्रमिक उपलब्ध हैं. एक मजदूर ने कहा, यह अच्छा है सरकार ने Coronavirus Lockdown के बीच निर्माण कार्य की अनुमति दी है, क्योंकि अब हमें मजदूरी मिलेगी.”

दिल्ली के बंगाली मार्केट में आवश्यक सामान बेचने वाली दुकानें आज खुल गईं हैं. यह एक नियंत्रण क्षेत्र था. इससे पहले, दिल्ली सरकार ने प्रतिबंधों में ढील दी थी, क्योंकि पिछले 28 दिनों में इस क्षेत्र में कोई नया मामला सामने नहीं आया है.

केजरीवाल ने रविवार को कहा कि दिल्ली को फिर से खोलने का वक्त आ गया
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि दिल्ली को फिर से खोलने का वक्त आ गया है और लोगों को कोरोना वायरस के साथ रहने के लिए तैयार रहना होगा. उन्होंने लॉकडाउन के तीसरे चरण के दौरान ‘रेड जोन’ के लिए केंद्र द्वारा निर्धारित सभी छूट राष्ट्रीय राजधानी में लागू करने की घोषणा की.

सीएम ने कहा था- असंभव है कि कोरोना वायरस के मामले शून्य हो जाएं
मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि दिल्ली लॉकडाउन हटाने के लिए तैयार है. यह असंभव है कि कोरोना वायरस के मामले शून्य हो जाएं. उन्होंने कहा था, ”यह असंभव है कि कोरोना वायरस का एक भी मामला सामने नहीं आए…हमें कोरोना वायरस के साथ रहने के लिए तैयार होना होगा. हमें इसका अभ्यस्त होना होगा”. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘यह असंभव है कि कोरोना वायरस का कोई मामला सामने नहीं आएगा क्योंकि ऐसा किसी देश में नहीं हुआ है. केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार सार्वजनिक स्थानों पर थूकने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी.

दिल्ली के सभी 11 जिले ‘रेड जोन’ घोषित
केजरीवाल ने ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार केंद्र को यह सुझाव देगी कि शहर में सिर्फ निरुद्ध क्षेत्र को ‘रेड जोन’ घोषित किया जाए, ना कि पूरे जिले को. वर्तमान में दिल्ली के सभी 11 जिले ‘रेड जोन’ घोषित किए गए हैं.

रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के सर्वाधिक 427 मामले आए थे
दिल्ली में किसी एक दिन में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के सर्वाधिक 427 मामले सामने आए और इसके साथ ही कोविड-19 के मामलों की कुल संख्या बढ़ कर 4,549 हो गई. राष्ट्रीय राजधानी में अब तक 64 लोगों की संक्रमण से मौत हुई है.

प्रवासी मजदूरों को भेजने की प्रक्रिया तैयार
दिल्ली सरकार ने प्रवासी मजदूरों सहित फंसे हुए लोगों को अपने मूल निवास स्थान तक भेजने के लिए एक मानक संचालन प्रक्रिया भी तैयार की है. बता दें कि दिल्‍ली में हजारों की संख्या में प्रवासी कामगार फंसे हुए हैं, जिनमें से कई लोग सरकार संचालित आश्रय गृहों में रह रहे हैं.

लॉकडाउन 3.0 अब 4 मई से 17 मई तक है
सीएम केजरीवाल ने रविवार को सोमवार से कई राहत भरे उपायों की भी घोषणा की थी, लेकिन कहा था कि लॉकडाउन और दो हफ्ते रहेगा. दिल्ली सहित देश भर में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू है. इसका प्रथम चरण 25 मार्च से 14 अप्रैल तक था. दूसरा चरण 15 अप्रैल से तीन मई तक था. अब लॉकडाउन 3.0 सोमवार (चार मई) से 17 मई तक है.

अर्थव्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई
सीएम केजरीवाल ने कहा था कि कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के चलते सरकार का राजस्व और अर्थव्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई है. उन्होंने कहा कि दिल्ली लॉकडाउन की सारी पाबंदियां हटाने के लिए तैयार है. केजरीवाल ने अप्रैल 2019 के आंकड़ों का उल्लेख करते हुए कहा कि सरकार ने पिछले साल अप्रैल में 3,500 करोड़ रुपए अर्जित किए थे, जबकि इस साल अप्रैल में उसने सिर्फ 300 करोड़ रुपए प्राप्त किए.

केंद्र को ऐसे इलाकों को सील करने का सुझाव, जहां कोरोना केस आ रहे 
सीएम केजरीवाल ने कहा था, केंद्र ने पूरी दिल्ली को ‘रेड जोन’ श्रेणी के तहत रखा है, जिसके चलते बाजार और मॉल नहीं खुल सकते. हमने केंद्र को सिर्फ उन इलाकों को सील करने का सुझाव दिया है, जहां कोरोना वायरस संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं और शेष इलाकों में सभी गतिविधियों की इजाजत दी जा सकती है.

सरकारी और निजी दफ्तर खुलेंगे
मुख्‍यमंत्री ने कहा कि शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक लोगों की आवाजाही की इजाजत नहीं होगी, जैसा कि केंद्र ने सुझाव दिया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि सोमवार से सरकारी और निजी दफ्तर खुलेंगे, लेकिन उड़ानों, मेट्रो और बसों पर पाबंदी जारी रहेगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि जरूरी सेवाओं से जुड़े दिल्ली सरकार के कार्यालय सभी कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ काम करेंगे, जबकि निजी कार्यालय 33 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम कर सकते हैं.

ई-कॉमर्स पोर्टलों के जरिए जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति जारी रहेगी
केजरीवाल ने ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली में ई-कॉमर्स पोर्टलों के जरिए जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति जारी रहेगी. उन्होंने कहा, मॉल, सिनेमा, सैलून, मार्केट कॉम्पलेक्स और दिल्ली मेट्रो बंद रहेगी, जबकि आवश्यक वस्तुएं बेचने वाली दुकानें खुलेंगी.

पाबंदियों में ढील पर स्थानीय प्राधिकारों से स्पष्टीकरण
केजरीवाल ने कहा था कि विवाह समारोह में 50 लोग जुट सकते हैं. इस बीच, कई व्यापार संगठनों ने पाबंदियों में ढील दिये जाने पर स्थानीय प्राधिकारों से स्पष्टीकरण मांगा है. उनका कहना है कि पड़ोस की दुकान किसे कहा जाए और मोहल्ले की एकमात्र दुकान किसे माना जाए, इसे लेकर भ्रम की स्थिति है. कांफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि इस बारे में स्पष्टता का अभाव है. रिटेलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (आरएआई) ने कहा कि मार्केट प्लेस का मतलब गलत परिभाषित किया जा सकता है. आरएआई के सीईओ कुमार राजगोपालन ने कहा था, मुझे लगता है कि राज्य भी भ्रमित हैं और वे वही चीज छाप रहे हैं जो केंद्र भेज रहा है.