बागडोगरा: लांस नायक सुभाष थापा का पार्थिव शरीर उनके आवास बागडोगरा लाया गया है. बता दें कि सुभाष थापा पाकिस्तान की ओर से किए गए संघर्ष विराम उल्लंघन में 11 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर में गोलीबारी में शहीद हो गए थे. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, कश्मीर के नौशेरा में सीमा पार फायरिंग में बागडोगरा का यह लाल शहीद हो गया था.

इस खबर के आते ही पूरे देश में शोक की एक लहर दौड़ गई. आज उनकी पार्थिव शरीर उनके परिवारोंजनों को दे दिया गया है. बता दें कि शहीद सुभाष थापा का घर बागडोगरा के पानीघटा रोड में है. माता-पिता के एक संतान शहीद सुभाष थापा साल 2011 में 35 गोरखा रेजीमेंट में शामिल हुए थे.

बरेली: जमीन के तीन फीट नीचे जिंदा मिली नवजात बच्ची, देखते ही व्यक्ति के उड़े होश

हाल ही में उनकी पोस्टिंग 35 राष्ट्रीय राइफल में की गई थी. 11 अक्टूबर नौशेरा से सूबेदार मेजर लोकनाथ बहादुर ने सुभाष के परिवार को यह दुखभरी खबर सुनाई. उनकी मां को केवल उनके घायल होने की जानकारी दी गई, जबकि पिता को सच्चाई बताई गई. इसके बाद पूरे इलाके में यह दुख की खबर फैल गई. सुभाष की मां की हालत काफी खराब है. ग्राम पंचायत के उप प्रधान संजय महतो ने शहीद के परिवार को ढांढस बंधाया.