शिलांग: मेघालय के पूर्वी गारो पहाड़ी जिले में शनिवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में अतिवांछित उग्रवादी एवं प्रतिबंधित गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी (जीएनएलए) का स्वयंभू प्रमुख मारा गया है. जीएनएलए प्रमुख सोहन डी शीरा के ऊपर 10 लाख रुपए का इनाम घोषित था. महज कुछ दिन पहले इसी जिले में एक देशी बम हमले में राकांपा उम्मीदवार जोनाथन एन संगमा मारे गए थे. जीएनएलए पर यह देशी बम हमला करने का संदेह है.Also Read - Jammu and Kashmir: आतंकी हमलों को रोकने के लिए श्रीनगर में तैनात किए गए अतिरिक्त सुरक्षाबल, शहर में आठ साल बाद बंकरों की वापसी

संगमा की मौत के बाद चुनाव में उतरने जा रहे दक्षिण एवं पूर्वी गारो पहाड़ी जिले में उग्रवाद निरोधक अभियान तेज कर दिया गया. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि डोबू इलाके में कुछ जीएनएलए उग्रवादियों की संभावित मौजूदगी की खुफिया खबर मिलने के बाद उग्रवाद निरोधक बल को हरकत में आने को कहा गया है. शनिवार को सुबह 11:00 बजे डोबू के समीप अचाकपेक गांव में मुठभेड़ हुई, जिसमें सोहन मारा गया. (इनपुट एजेंसी) Also Read - Jammu Kashmir: आतंकियों के खिलाफ अंतिम वार की तैयारी! पुंछ में सेना की लोगों को सलाह- घर में रहें क्योंकि...

Also Read - मेघालय के राज्‍यपाल सत्यपाल मलिक का बयान, किसानों की नहीं सुनी तो यह सरकार दोबारा नहीं आएगी