शिलांग: मेघालय के पूर्वी गारो पहाड़ी जिले में शनिवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में अतिवांछित उग्रवादी एवं प्रतिबंधित गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी (जीएनएलए) का स्वयंभू प्रमुख मारा गया है. जीएनएलए प्रमुख सोहन डी शीरा के ऊपर 10 लाख रुपए का इनाम घोषित था. महज कुछ दिन पहले इसी जिले में एक देशी बम हमले में राकांपा उम्मीदवार जोनाथन एन संगमा मारे गए थे. जीएनएलए पर यह देशी बम हमला करने का संदेह है.Also Read - Encounter in UP: STF ने एक लाख के इनामी अंतरराज्यीय अपराधी को किया ढेर, 4 राज्‍यों में 32 केस दर्ज हैं

संगमा की मौत के बाद चुनाव में उतरने जा रहे दक्षिण एवं पूर्वी गारो पहाड़ी जिले में उग्रवाद निरोधक अभियान तेज कर दिया गया. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि डोबू इलाके में कुछ जीएनएलए उग्रवादियों की संभावित मौजूदगी की खुफिया खबर मिलने के बाद उग्रवाद निरोधक बल को हरकत में आने को कहा गया है. शनिवार को सुबह 11:00 बजे डोबू के समीप अचाकपेक गांव में मुठभेड़ हुई, जिसमें सोहन मारा गया. (इनपुट एजेंसी) Also Read - मेघालय के डीएसपी का बड़ा आरोप, बोले- 'असम पुलिस ने भीड़ को हमले के लिए उकसाया होगा'

Also Read - मेघालय के पूर्व विधायक को नाबालिग से रेप के आरोप में 25 साल की जेल